अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए ब्रह्मास्त्र का काम करती है दफा 110, 7 साल में पकड़े 1323 पेशेवर अपराधी

आतंक फैलाने या लूटपाट जैसी घटनाओं में संपृक्त पेशेवर अपराधियों के लिए 110 दफा मानो ब्रह्मास्त्र बन गई है। पुलिस सूचना के मुताबिक पिछले साल वर्ष 2021 में 110 दफा के तहत 252 पेशेवर अपराधियों को बुक किया जबकि पिछले 7 साल में 1323 पेशेवर अपराधी बुक किए गए हैं।

Babita KashyapPublish: Tue, 04 Jan 2022 01:19 PM (IST)Updated: Tue, 04 Jan 2022 01:19 PM (IST)
अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए ब्रह्मास्त्र का काम करती है दफा 110, 7 साल में पकड़े 1323 पेशेवर अपराधी

भुवनेश्वर, शेषनाथ राय। स्मार्ट सिटी में सार्वजनिक जगहों पर आतंक फैलाने या फिर लूटपाट जैसी घटनाओं में संपृक्त पेशेवर अपराधियों के लिए 110 दफा मानो ब्रह्मास्त्र बन गई है। ऐसे पेशेवर अपराधियों की पहचान कर कमिश्नरेट पुलिस उन्हें 110 जैसी संगीन दफा में बुक कर या तो सलाखों के पीछे डाल दे रही है या फिर सलाखों के अंदर ही रहने को मजबूर कर देती है। पुलिस सूचना के मुताबिक पिछले साल वर्ष 2021 में 110 दफा के तहत 252 पेशेवर अपराधियों को बुक किया है जबकि पिछले 7 साल में 1323 पेशेवर अपराधी बुक किए गए हैं। इस संगीन दफा में बुक किए जाने वाले अपराधियों की या तो समय सीमा बढ़ा दी जाती है या फिर इन्हें पुनः इसी दफा में बुक कर सलाखों के पीछे दाल दिया जाता है। इसी के तहत मार्च 2021 में सर्वाधिक 35 पेशेवर अपराधियों को बुक किया गया था जबकि फरवरी महीने में सबसे कम 11 पेशेवर अपराधी बुक हुए थे।

इसके अलावा अप्रैल में 31 एवं नवंबर महीने में 32 पेशेवर अपराधियों को वर्ष 2021 में बुक कर कमिश्नरेट पुलिस ने पिछले 7 साल का रिकाार्ड तोड़ दिया है। हाला की राजधानी में अपराधियों में 110 दफा का खौफ इस कदर घर कर गया है कि कुछ पुराने अपराधी पुलिस के डर से छुप गए हैं एवं खुद सामने आने के बदले बस्ती के बच्चों या फिर बेरोजगार युवकों को रोजगार दिलाने की लालच दिखाकर अपराधिक गैंग सक्रिय कर रहे हैं। खासकर त्योहारी सीजन में यह अपराधी शहर में अपराधिक गतिविधियों को अंजाम अभी भी दे रहे हैं। जेल से निकलने के बाद पुनः सक्रिय हो गए हैं जिन पर पुलिस पैनी नजर रख रही है। पुलिस का कहना है कि ऐसे पेशेवर अपराधियों पर नजर रखी जा रही है और उन्हें 110 दफा में बुक किया जा रहा है।

वर्ष 2021 में 110 दफा में कमिश्नरेट पुलिस द्वारा बुक किए गए अपराधियों की सूची

जनवरी महीने में 17, फरवरी महीने में 11, मार्च में 35, अप्रैल में 31, मई में 22, जून में 16, जुलाई में 15, अगस्त में 24, सितंबर में 20, अक्टूबर में 12, नवंबर में 32 तथा दिसंबर महीने में 17 पेशेवर अपराधी बुक किए गए हैं।

पिछले 7 साल में बुक किए गए हैं 1323 पेशेवर अपराधी

राजधानी भुवनेश्वर में पेशेवर अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए कमिश्नरेट पुलिस की तरफ से लगातार प्रयास जारी होने के बावजूद आपराधिक गतिविधियां कम ना होने से पुलिस ऐसे अपराधियों के खिलाफ सख्त कदम उठा रही है। इसी के तहत पिछले 7 साल में कमिश्नरेट पुलिस ने 110 दफा में 1323 पेशेवर अपराधियों को बुक किया है। जानकारी के मुताबिक वर्ष 2014 में 161 पेशेवर अपराधी बुक किए गए तो वही वर्ष 2015 में यह संख्या बढ़कर 180 हो गई। वर्ष 2016 में 220, वर्ष 2017 में 228, वर्ष 2018 में 251, वर्ष 2019 में 113, वर्ष 2020 में 170 पेशेवर अपराधियों को कमिश्नरेट पुलिस ने 110 दफा में बुक किया है।

क्या है 110 दफा

हुड़दंग करना, चोरी करना, चोरी की सामग्री खरीदना, लुटेरों को प्रोत्साहन देना, अपहरण करना एवं कानून व्यवस्था बिगाड़ने जैसी परिस्थिति उत्पन्न करने वाले पेशेवर अपराधियों के खिलाफ यह संगीन 110 दफा लगाई जाती है। इन अपराधियों के खिलाफ यह दफा लगने से अदालत बांड पेपर नहीं ग्रहण करती है। उसी तरह से 110 दफा में बुक किया गया अपराधी यदि जेल के अंदर है तो फिर उक्त दफा लगने के बाद अपराधी को जेल की सलाखों के अंदर और कुछ दिन तक बिताना पड़ता है। उसी तरह से यदि अपराधी जेल के बाहर है तो फिर अपराधी के खिलाफ नोटिस जारी करने को पुलिस के पास कानूनी अधिकार है।

Edited By Babita Kashyap

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept