This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Odisha corona: ओड़िशा में कोरोना की बढ़ती रफ्तार, गाइड लाइन को सख्ती के साथ अनुपालन करने को मुख्यमंत्री की अपील

देश के अन्य राज्यों की तरह ओड़िशा में कोरोना संक्रमण अब तेजी से फैलने लगा है। ऐसे में प्रदेश सरकार के साथ पूर्वतट रेलवे ने भी सतर्कता के तौर पर रेल यात्रियों के लिए आरटीपीसीआर नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट या दुसरा कोरोना डोज का सर्टिफिकेट साथ लाना जरूरी कर दिया है।

Priti JhaSun, 11 Apr 2021 02:27 PM (IST)
Odisha corona: ओड़िशा में कोरोना की बढ़ती रफ्तार, गाइड लाइन को सख्ती के साथ अनुपालन करने को मुख्यमंत्री की अपील

भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। देश के अन्य कुछ राज्यों की तरह ओड़िशा में भी कोरोना संक्रमण की रफ्तार अब लोगों को डराने लगी है। हर दिन बढ़ते मामले लोगों के साथ सरकार एवं प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है। प्रदेश में एक दिन पहले जहां 1374 नए मामले सामने आए थे वहीं आज 1379 नए मामले सामने आए हैं। इनमें से 808 क्वारेनटाइन से हैं जबकि 571 स्थानीय लोग संक्रमित हुए हैं।

राज्य सुचना एवं जनसंपर्क विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक नए संक्रमित मरीजों में सुन्दरगड़ जिले से सर्वाधिक 317 मामले सामने आए हैं जबकि खुर्दा जिले से 158, नुआपड़ा जिले से 90, सम्बलपुर जिले से 86, बरगड़ जिले से 68 लोग संक्रमित हुए हैं। इसके साथ ही अनुगुल जिले से 27, बालेश्वर जिले से 33, भद्रक जिले से 36, बलांगीर जिले से 54, बौद्ध जिले से 1, कटक जिले से 56, देवगड़ जिले से 4, ढेंकानाल जिले से 4, गजपति जिले से 3, गंजाम जिले से 31, जगतसिंहपुर जिले से 6, जाजपुर जिले से 19, झारसुगुड़ा जिले से 42, कालाहांडी जिले से 30, कंधमाल जिले से 10, केन्द्रापड़ा जिले से 6, केन्दुझर जिले से 30, कोरापुट जिले से 9, मालकानगिरी जिले से 4, मयूरभंज जिले से 49, नवरंगपुर जिले से 71, नयागड़ जिले से 18, पुरी जिले से 43, रायगड़ा जिले से 25, सोनपुर जिले से 14, स्टेट पुल में 35 लोग संक्रमित मिले हैं।

गौरतलब है कि प्रदेश में अब तक कुल 3 लाख 49 हजार 561 लोग संक्रमित हो चुके हैं। हालांकि इसमें से 3 लाख 39 हजार 603 लोग स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं जबकि 7979 सक्रिय मामले हैं जिनका विभिन्न कोविड अस्पताल में इलाज चल रहा है। उसी तरह से 1926 लोगों की कोरोना से अब तक मौत हो चुकी है।

कोरोना गाइड लाइन को सख्ती के साथ अनुपालन करने को मुख्यमंत्री की अपील

ओड़िशा में कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने राज्य के लोगों से एक बार फिर कोरोना गाइड लाइन का सख्ती के साथ अनुपालन करने के लिए अनुरोध किया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि हमारी थोड़ी सी लापरवाही या असावधानी भारी विपत्ति ला सकती है।

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने ट्वीट करते हुए कहा है कि सतर्कता एवं सावधानी के जरिए हम कोरोना संक्रमण को रोक सकते हैं। कोरोना नियम को सख्ती के साथ अनुपालन करने को मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है। नियमित मास्क पहनने, खुद को तथा पूरे समाज को सुरक्षित रखने के लिए मुख्यमंत्री ने अनुरोध किया है। 14 दिवसीय मास्क अभियान के लिए पिछले शुक्रवार को मुख्यमंत्री ने आह्वान दिया था। इस अभियान में माताओं को नेतृत्व लेने के लिए मुख्यमंत्री ने अनुरोध किया था। मुख्यमंत्री ने कहा है कि मास्क पहनकर हम कोरोना को फैलने से रोक सकते हैं। कोरोना संक्रमण को रोकने में मास्क अमोघ अस्त्र है। मास्क पहनकर हम लाक डाउन एवं शट डाउन से बच सकते हैं। मुख्यमंत्री के इस अभियान की विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी प्रशंसा की है। 

रेल सेवा से ओड़िशा आने वाले यात्री के पास 72 घंटे पहले की कोविड निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य

देश के अन्य राज्यों की तरह ओड़िशा में कोरोना संक्रमण अब तेजी से फैलने लगा है। ऐसे में प्रदेश सरकार के साथ पूर्वतट रेलवे ने भी सतर्कता के तौर पर रेल यात्रियों के लिए आरटीपीसीआर नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट या दुसरा कोरोना डोज का सर्टिफिकेट साथ लाना जरूरी कर दिया है। जांच के दौरान यदि किसी भी यात्री इस दिशा- निर्देश का उल्लंघन करते हुए पाया गया तो फिर अनिवार्य रूप से एक सप्ताह तक संगरोध से गुजरना होगा।

पूर्वतट रेलवे की तरफ से जारी किया गया है कि रेल सेवा के जरिए देश के किसी भी राज्य से ओड़िशा आने वाले सभी यात्रियों के पास यात्रा की शुरुआत से पहले अधिकतम 72 घंटे की आरटीपीआरसी निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट या दूसरी खुराक टीकाकरण प्रमाण पत्र होना चाहिए। बिना वैध दस्तावेजों वाले लोगों को सात दिन अनिवार्य घर / संस्थागत संगरोध से गुजरना होगा। कोविड का पुनरुत्थान ओडिशा के कुछ स्थानों पर हुआ है। कोविड-19 के प्रसार को प्रतिबंधित करने और सीमा पार आंदोलन के प्रतिकूल प्रभाव को रोकने के लिए और ओडिशा राज्य सरकार के साथ समन्वय बनाते हुए यात्रियों पर उपरोक्त प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया है।

यहां उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण की दुसरी लहर आने के बाद से ही पूर्वतट रेलवे ने अपने क्षेत्र में आने वाले तमाम रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों पर 24 घंटे पैनी नजर रखी जा रही है। यात्रियों को कोरोना गाइड लाइन सुनिश्चित कराने के लिए स्टेशन पर जागरूक किया जा रहा है। आने एवं जाने वाले यात्रियों का बुखार मापा जा रहा है। यदि किसी यात्री को बुखार या सर्दी-खांसी की समस्या है तो फिर उसकी जांच की जा रही है।

भुवनेश्वर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!