This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

ईरान के परमाणु कार्यक्रम को लेकर नहीं हो सका समझौता

ईरान और छह विश्व शक्तियों के बीच जेनेवा में चली बातचीत में ईरान द्वारा अपना परमाणु कार्यक्रम रोकने को लेकर कोई समझौता नहीं हो सका।

Sun, 10 Nov 2013 09:52 PM (IST)
ईरान के परमाणु कार्यक्रम को लेकर नहीं हो सका समझौता

जेनेवा। ईरान और छह विश्व शक्तियों के बीच जेनेवा में तीन दिन तक बातचीत चली लेकिन ईरान द्वारा अपना परमाणु कार्यक्रम रोकने को लेकर कोई समझौता नहीं हो सका। हालांकि उनकी ओर से कहा गया है कि दोनों पक्षों के बीच मतभेद कुछ कम हुए हैं और वे एक दशक से चले आ रहे गतिरोध को दूर करने के लिए 10 दिनों में फिर से बातचीत प्रारंभ करेंगे।

पढ़ें: ईरान अपने परमाणु संयंत्रों का निरीक्षण कराने को राजी

बातचीत के अंतिम दिन अमेरिका और उसके यूरोपीय सहयोगियों के बीच मतभेद उभरकर सामने आए। फ्रांस ने संकेत दिया कि जिस प्रस्ताव पर चर्चा हुई वह ईरान की ओर से परमाणु बम संबंधी खतरे को समाप्त नहीं करता है। ईरान ऐसे समझौते की उम्मीद कर रहा है जिससे उसके खिलाफ लगे प्रतिबंधों में कुछ ढील दी जा सके। इन प्रतिबंधों के माध्यम से ईरान को अपना तेल बेचने से रोका जा रहा है। वास्तव में ईरान और अमेरिका के पास ही समझौता करने या उसे तोड़ देने का अधिकार है। इन दोनों देशों के बीच तीन दशक से भी अधिक समय से राजनयिक संबंध नहीं हैं। लेकिन शनिवार को लोगों का ध्यान अचानक फ्रांस की ओर चला गया। फ्रांस के विदेश मंत्री लॉरेन फैबियस ने फ्रांस इंटर रेडियो से कहा कि पेरिस मूर्खो के खेल को स्वीकार नहीं करेगा। उनके कहने का मतलब यह है कि फ्रांस ईरान के साथ किसी कमजोर समझौते को स्वीकार नहीं करेगा।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर