This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

अफगानिस्‍तान के हैरात में पाक के खिलाफ जमकर हुई नारेबाजी, झंडे भी जलाए

अफगानिस्‍तान के हैरात में पाकिस्‍तान के खिलाफ लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया है। इनका आरोप है कि पाक तालिबान आतंकियों का साथ देकर यहां हमले करवा रहा है।

Kamal VermaSun, 15 Jan 2017 12:14 PM (IST)
अफगानिस्‍तान के हैरात में पाक के खिलाफ जमकर हुई नारेबाजी, झंडे भी जलाए

पाकिस्तान में सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन की आवाज अब और तेज होगई है। पहले पीओके के मुज्जफराबाद में, फिर बलूचिस्तान में इसके बाद खैबर पख्तूनख्वां में इसको लेकर विरोधी स्वर तेज हो गए हैं। अब अफगानिस्तान में भी पाकिस्तान द्वारा भेजे गए आतंकियों और उनके ट्रेनिंंग कैंपों के खिलाफ लोग लामबंद हो रहे हैं। अफगानिस्तान के हैरात में इसी मुद्दे पर कई लोगों ने मिलकर पाकिस्तान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इनका कहना था कि यदि पाकिस्तान इससे भी नहीं माना तो बड़े स्तर पर विरोध-प्रदर्शन किया जाएगा।

पाक पर आतंक फैलाने का आरोप

हैरात में विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों का आराेप है कि पाकिस्तान अफगानिस्तान में तालिबान को खुलकर समर्थन कर रहा है। गौरतलब है कि तालिबान ने ही पिछले दिनों अफगानिस्तान में बड़ा हमला कर कई लोगों को मौत केे घाट उतार दिया था। इस हमले में यूएई के पांच डिप्लोमट भी मारे गए थे। हैरात में स्थित पाकिस्तान काउंसलेट के बार विरोध प्रदर्शन करने वालों ने पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शनकारियों ने पाकिस्तान का झंडा भी फूंका और यूएई के पांच डिप्लोमट की हत्या के लिए जिम्मेदार तालिबान के खिलाफ कठाेेर कार्रवाई करने की मांग की।

हाफिज सईद ने अखनूर हमले को बताया आतंकियों की 'सर्जिकल स्ट्राइक'

संबंध बनाए रखने पर दोबारा हो विचार

इन लोगों का कहना था कि यूएई को पाकिस्तान के साथ सहयोग और संंबंध बनाए रखने के बारे में दोबारा विचार करे। बीते मंगलवार को कंधार में यह हमला उस वक्त हुआ था जब एक गैस्ट हाउस में यूएई राजदूत की वहां के गवर्नर और पुलिस चीफ के बीच एक अहम बैठक चल रही थी। इस हमले में 27 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 70 से अधिक लोग घायल हो गए थे।

'सीमा पर महिला जवानों को नहीं मिलेंगी विशेष सुविधा, सहने होंगे हर कष्ट'

सबसे निचले दर्ज पर पाक-यूएई संबंध

हैरात में यह विरोध प्रदर्शन उस वक्त हो रहा है जब पाकिस्तान और यूएई के संबंध सबसे निचले स्तर पर पहुंंच चुके हैं। इसकी वजह हाल ही में मारे गए पांच डिप्लोमेट का मामला भी है। इससे पहले पाकिस्तान द्वारा तालिबान आतंकियों को बढ़ावा दिए जाने के खिलाफ अफगानिस्तान ग्रीन ट्रेंड के कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान दूातावास के बाहर प्रदर्शन किया था। बाद में पुलिस ने इन कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया था। इस ग्रुप को को रावंद ए सब्ज ए अफगानिस्तान के नाम से भी जाना जाता है।

पश्तून लड़कियों को सेक्स स्लेव बना रहा है पाकिस्तान: उमर खटक

आईएसआई दे रही आतंकियों का साथ

शुक्रवार को हुए इस विरोध प्रदर्शन के दौरान इन प्रदर्शनकारियों पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इनका आरोप था कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई तालिबान के साथ मिलकर इस तरह के हमले करवा रही है।

सीमा पार से आतंकवाद जारी रहा तो सर्जिकल स्ट्राइक से परहेज नहीं : जनरल रावत

Edited By: Kamal Verma