This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

सिंध में जबरन धर्म परिवर्तन के मामले बढ़े

पाकिस्तान के सिंध प्रात में हिंदू लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन जारी है। यहां के मानवाधिकार आयोग की रिपोर्ट में यह बात कही गई है। रिपोर्ट के मुताबिक सिंध प्रांत में हर महीने 20 से 25 हिंदू लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन किया जा रहा है। आयोग ने प्रशासन से इस ओर ध्यान देने की अपील की है।

Mon, 12 Mar 2012 10:14 AM (IST)
सिंध में जबरन धर्म परिवर्तन के मामले बढ़े

कराची। पाकिस्तान के सिंध प्रात में हिंदू लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन जारी है। यहां के मानवाधिकार आयोग की रिपोर्ट में यह बात कही गई है। रिपोर्ट के मुताबिक सिंध प्रांत में हर महीने 20 से 25 हिंदू लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन किया जा रहा है। आयोग ने प्रशासन से इस ओर ध्यान देने की अपील की है।

आयोग की तरफ से अमरनाथ मोतूमेल ने कहा,'बीते एक महीने में जबरन इस्लाम कबूल कराने के करीब 20 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें स्कूली छात्राओं से लेकर विवाहित महिलाएं भी शामिल हैं।' हाल ही में 18 वर्षीय रिंकल कुमारी के जबरन धर्म परिवर्तन का मामला मीडिया में सामने आने के बाद यह रिपोर्ट सामने आई है। रिंकल के परिवार का कहना है कि उसका अपहरण कर जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया है। हालांकि रिंकल ने अदालत में स्वीकार किया था कि उसने खुद धर्म परिवर्तन कर इस्लाम कबूल किया है। जबकि उसके परिवार वालों ने दावा किया है कि रिंकल ने यह बयान दबाव में आकर दिया है।

मोतुमेल ने कहा कि जब कोई हिंदू लड़की या उसका परिवार इन मामलों की शिकायत को लेकर अदालत पहुंचता है, तो कोर्ट के बाहर सैकड़ों धार्मिक कट्टरपंथी इकट्ठा होकर उन पर दबाव बनाते हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के आदेश के बावजूद भी कु नहीं किया जा रहा है। प्रेस काफ्रेंस के दौरान रिंकल के परिजन भी मौजूद थे। उसके भाई इंदर ने कहा कि यदि रिंकल अपने परिवार से मिल पाती तो कभी धर्म परिवर्तन नहीं करती।

आयोग के अधिकारी प्रोफेसर बदर सूमरो ने कहा कि हिंदू समुदाय के लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए नए कानून बनाने की जरूरत है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर