श्री जयसी राम मंदिर में प्राण-प्रतिष्ठा, गणपति की पूजा कर प्राण-प्रतिष्ठा का हुआ देव आह्वान

मेरठ में श्री जयसी राम मंदिर में मंगलवार से प्राण-प्रतिष्ठा समारोह का शुभारंभ हुआ। समारोह के पहले दिन प्रात नौ बजे कलश यात्रा निकाली गई। इसके बाद गणपति पंचांग पूजन व मूर्तियों का संस्कारारंभ व जलाधिवास शुरू किया गया।

Taruna TayalPublish: Tue, 05 Jul 2022 03:20 PM (IST)Updated: Tue, 05 Jul 2022 03:20 PM (IST)
श्री जयसी राम मंदिर में प्राण-प्रतिष्ठा, गणपति की पूजा कर प्राण-प्रतिष्ठा का हुआ देव आह्वान

मेरठ, जागरण संवाददाता। गढ़ रोड गांधी आश्रम चौराहा स्थित श्री जयसी राम मंदिर में मंगलवार से प्राण-प्रतिष्ठा समारोह का शुभारंभ हुआ। समारोह के पहले दिन प्रात: नौ बजे कलश यात्रा निकाली गई। इसके बाद गणपति पंचांग पूजन व मूर्तियों का संस्कारारंभ व जलाधिवास शुरू किया गया। मंदिर में स्थापित करने के लिए जयपुर से राम दरबार, मां दुर्गा, राधा कृष्ण व भैरो बाबा की मूर्ति मंगाई गई है।

मंदिर समिति के मंत्री विपिन कुमार ने बताया कि पांच जुलाई से श्री जयसी राम मंदिर में मूर्तियों का प्राण-प्रतिष्ठा समारोह का शुभारंभ हुआ। मंदिर में राम दरबार, मां दुर्गा, राधा कृष्ण व भैरो बाबा की मूर्ति स्थापित की जाएंगी। मंगलवार को पहले दिन 21 कलश के साथ महिलाओं ने शोभायात्रा निकाली। पहले द्वार से शुरू होकर कलश यात्रा मंदिर के दूसरे प्रवेश द्वार पर पहुंचकर संपन्न हुई। पूजन के बाद भंडारे का आयोजन होगा। मुख्य यजमान के रूप में अमित गुप्ता, दिनेश बंसल व कृष्ण कुमार मौजूद रहे। मुख्य पुजारी शांति स्वरूप भट्ट के साथ भागवत प्रसाद, आचार्य कुशलानंद सेमवाल, पंडित लाखीराम व पंडित आशीष व्यास ने विधि-विधान संपन्न कराए। मंदिर समिति के अध्यक्ष ज्ञानेंद्र अग्रवाल, मंत्री विपिन कुमार, कोषाध्यक्ष अमिश गुप्ता व विनोद कुमार गुप्ता का विशेष सहयोग रहा।

कल देव पूजन व धान्याधिवास

महामंत्री विपिन कुमार ने बताया कि बुधवार को दूसरे दिन देव पूजन व धान्याधिवास, तीसरे दिन घृताधिवास, शक्कर मिष्ठान्नधिवास, गंधाधिवास पुष्पाधिवास, फलौषधि अधिवास, चौथे दिन वस्त्र व शैय्याधिवास और पांचवें व अंतिम दिन मूर्तियों की विधि-विधान के साथ प्राण-प्रतिष्ठा, स्थापना व पूर्णाहुति होगी।

Edited By Taruna Tayal

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept