पंचायतीराज कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से ठप पड़े कार्य, प्रधान मोनिका ने सरकार से उठाई यह मांग

Panchayati Raj Employees Strike मनाली पंचायत की प्रधान मोनिका भारती ने कहा प्रदेश सरकार पंचायतीराज के कर्मचारियों की मांगे शीघ्र माने और हड़ताल को खत्म करवाए। उन्होंने कहा कि पंचायत अधिकारियों व कर्मचारियों के कलम छोड़ो हड़ताल में जाने से सभी कार्य ठप पड़े हुए है।

Rajesh Kumar SharmaPublish: Sat, 02 Jul 2022 02:45 PM (IST)Updated: Sat, 02 Jul 2022 02:45 PM (IST)
पंचायतीराज कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से ठप पड़े कार्य, प्रधान मोनिका ने सरकार से उठाई यह मांग

मनाली, जागरण संवाददाता। Panchayati Raj Employees Strike, मनाली पंचायत की प्रधान मोनिका भारती ने कहा प्रदेश सरकार पंचायतीराज के कर्मचारियों की मांगे शीघ्र माने और हड़ताल को खत्म करवाए। उन्होंने कहा कि पंचायत अधिकारियों व कर्मचारियों के कलम छोड़ो हड़ताल में जाने से सभी कार्य ठप पड़े हुए है। उन्होंने कहा पंचायत कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने से काम पूरी तरह प्रभावित हो गया है। ग्रामीणों को भी भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में चल रहे विकास के सभी कार्य रुक गए हैं। उन्होंने सरकार से आग्रह किया की इनकी मांग पर ध्यान अतिशीघ्र दिया जाए़,  ताकि 15वें वित्त आयोग के कार्य आरंभ किए जा सके। उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से आग्रह किया कि इन कर्मचारियों की मांगे मानकर जल्द हड़ताल समाप्त करवाई जाए ताकि ठप पड़े पंचायत के विकास कार्यों को गति दी जा सके।

कर्मचारियों की पेन डाउन स्ट्राइक से आम आदमी परेशान

नेरवा। सरकार की हठधर्मी की वजह से इन कर्मचारियों की पेन डाउन स्ट्राइक छठे दिन में प्रवेश कर गई है, जिसका खामियाजा आम आदमी को भुगतना पड़ रहा है। पंचायती राज के कार्यों को संचालित करने वाले पंचायत सचिव, तकनीकी सहायक, कनिष्ठ अभियंता और सहायक अभियंताओं के स्ट्राइक पर जाने से विकास कार्य ठप हो गए हैं तो दूसरी तरफ आम आदमी के जन्म मृत्यु एवं विवाह पंजीकरण करवाने जैसे कार्य भी नहीं हो पा रहे हैं। पंचायतों से प्राप्त होने वाले विभिन्न किस्म के प्रमाण पत्र ना मिल पाने की वजह से युवाओं को स्वरोजगार के अवसर से भी हाथ धोना पड़ रहा है। यह आरोप जिला परिषद कर्मचारी-अधिकारी महासंघ की पेन डाउन स्ट्राइक के पक्ष में खुलकर सामने आए प्रधान परिषद कुपवी ब्लॉक एवं उप प्रधान परिषद चौपाल ने लगाए है। इन संगठनों ने सरकार से मांग की है कि जिला परिषद कर्मचारियों की स्ट्राइक से आम जनमानस को हो रही परेशानियों और उनकी जायज मांगों को मद्देनजर रखते हुए इस मामले में सहानुभूति पूर्वक शीघ्र उचित कार्रवाई की जाए।

Edited By Rajesh Kumar Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept