हरिद्वार के दंपती ने माता चिंतपूर्णी को अर्पित किया एक किलो चांदी का छत्र, भक्‍तों की अथाह आस्‍था, गाड़‍ियां भी कर चुके भेंट

Mata Chintpurni Temple शक्तिपीठ माता चिंतपूर्णी के दरबार शनिवार को हरिद्वार से पहुंचे श्रद्धालु दंपती ने तोश जैन और उनकी पत्नी मोनिका जैन ने करीब एक किलोग्राम चांदी का छत्र चढ़ाया। श्रद्धालु की एक प्रतिष्ठित दवा कंपनी है।

Rajesh Kumar SharmaPublish: Sat, 02 Jul 2022 01:00 PM (IST)Updated: Sat, 02 Jul 2022 01:11 PM (IST)
हरिद्वार के दंपती ने माता चिंतपूर्णी को अर्पित किया एक किलो चांदी का छत्र, भक्‍तों की अथाह आस्‍था, गाड़‍ियां भी कर चुके भेंट

चिंतपूर्णी, बृजमोहन कालिया। Mata Chintpurni Temple, शक्तिपीठ माता चिंतपूर्णी के दरबार शनिवार को हरिद्वार से पहुंचे श्रद्धालु दंपती ने तोश जैन और उनकी पत्नी मोनिका जैन ने करीब एक किलोग्राम चांदी का छत्र चढ़ाया। श्रद्धालु की एक प्रतिष्ठित दवा कंपनी है। पुजारी संदीप कालिया ने विधिवत मां के दरबार में दंपती की हाज़री लगवाई व लेख अधिकारी शम्मी राज ने मां की फ़ोटो देकर सम्मानित किया। श्रद्धालु दंपती की कोई मनाेकामना पूरी होने पर वे माता के दरबार में हाजिरी लगाने पहुंचे थे।

वहीं मां के दरबार रोजाना हज़ारों श्रद्धालु नतमस्तक होते हैं जोकि मां के दरबार में नकदी के साथ सोना चांदी आदि भी मां के चरणों में अर्पित करते हैं। वहीं अप्रैल माह में भी पंजाब से आए एक श्रद्धालु ने एक किलो चार सौ इक्कीस ग्राम चांदी का छत्र चढ़ाया था। उससे पहले एक किलो दो सौ बीस ग्राम चांदी का छत्र श्रद्धालु द्वारा मां के चरणों में चढ़ाया गया व पंजाब से आए एक श्रद्धालु द्वारा पांच किलो दो सौ चालीस ग्राम चांदी का छत्र मां के चरणों में अर्पित किया गया था।

जहां मां के दरबार में भक्त नकदी व सोना चांदी अर्पित करते हैं वहीं श्रद्धालुओं द्वारा मां के दरबार में गाड़ियां भी भेंट की गई हैं। दिल्ली के एक श्रद्धालु द्वारा जहां मंदिर न्यास को आल्टो कार दान स्वरूप दी गई। वहीं मंदिर के लंगर को एक श्रद्धालु द्वारा गाड़ी दान दी गई थी।

वित्त एवं लेखा अधिकारी शम्मी राज ने बताया कि हरिद्वार से आए एक श्रद्धालु द्वारा मां के मंदिर में एक चांदी का छत्र चढ़ाया है, जो करीब एक किलोग्राम का है। मां के मंदिर में रोजाना हज़ारों श्रद्धालु पहुंचते हैं व दिल खोलकर दान करते हैं।

Edited By Rajesh Kumar Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept