पर्यावरण संरक्षण: पांच जुलाई से पौधारोपण शुरू करेगा वन विभाग, 4.35 लाख पौधे लगाने का रखा लक्ष्य

अब एक दो बरसात के बाद पौधारोपण शुरू कर दिया जाएगा। विभागीय अधिकारियों की मानें तो यह सभी पौधे कैंपा ग्रीन पंजाब मिशन तथा एफटी 33 स्कीम के अधीन लगाए जाएंगे।

JagranPublish: Sat, 02 Jul 2022 03:11 AM (IST)Updated: Sat, 02 Jul 2022 03:11 AM (IST)
पर्यावरण संरक्षण: पांच जुलाई से पौधारोपण शुरू करेगा वन विभाग, 4.35 लाख पौधे लगाने का रखा लक्ष्य

जागरण संवाददाता, पठानकोट: वन विभाग पठानकोट की ओर से इस साल जिले में चार लाख 35 हजार 344 पौधे लगाए जाएंगे। इन पौधों को पठानकोट, धार तथा दुनेरा स्थित 12 नर्सरियों में तैयार कर लिया गया है। इनकी ढुलाई का काम भी शुरू कर दिया गया है। पांच जुलाई से इन पौधों को लगाना शुरू कर दिया जाएगा। इन पौधों को लगाने के लिए खड्डे खोदने का काम विभाग की ओर से पहले ही पूरा कर लिया गया है। अब एक दो बरसात के बाद पौधारोपण शुरू कर दिया जाएगा। विभागीय अधिकारियों की मानें तो यह सभी पौधे कैंपा, ग्रीन पंजाब मिशन तथा एफटी 33 स्कीम के अधीन लगाए जाएंगे। पिछले साल लगाए गए थे 3.80 लाख पौधे, 30 हजार हो गए खराब

वन विभाग की ओर से गत वर्ष तहत तीन लाख 80 हजार पौधे लगाए गए थे। इनमें से 30 हजार के करीब पौधे विभिन्न कारणों से बढ़ नहीं सके और सूख गए। वन विभाग ने पठानकोट के समस्त छह ब्लाकों में इन पौधों की जांच करवाई तथा खराब हुए इन पौधों को उखाड़ कर उनकी जगह भी नए पौधे लगाए जाएंगे। एक दशक में जिले में ढाई प्रतिश्त बढ़ा वन क्षेत्र

जिले में बीते एक दशक में वन क्षेत्र में ढाई प्रतिशत रकबा बढ़ा है। इस रकबे को और बढ़ाने के लिए वन विभाग की ओर से अर्ध पहाड़ी क्षेत्र धार, दुनेरा तथा जिले के मैदानी इलाकों से वन भूमि पर हुए अवैध कब्जों को छुड़ाने की भी तैयारी की जा रही है। बीते तीन साल में 400 हेक्टेयर वन भूमि पर से अवैध कब्जा छुड़ाया भी जा चुका है। यहां विभाग ने पार्क बनाए हैं अथवा पौधारोपण कर क्षेत्र की ग्रीनरी को बढ़ाया है। 347 हेक्टेयर में लगाए जाएंगे पौधे : डीएफओ अटल महाजन

डीएफओ अटल महाजन ने बताया कि वन विभाग की ओर से जिले में पांच जुलाई से पौधारोपण शुरू कर दिया जाएगा। विभागीय स्तर पर कई स्थानों का चयन किया गया है। 347 हेक्टेयर जमीन पर पौधे लगाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि पूरे जिले में यह पौधे वन विभाग की जमीन, जंगलों, शामलात भूमि, समाजसेवी संस्थाओं, शैक्षणिक संस्थानों इत्यादि अदारों में सप्लाई किए जाएंगे। जिन लोगों की ओर से सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा किया गया है उनसे भी जल्द ही अवैध कब्जे छुड़वाकर वहां भी पौधारोपण किया जाएगा।

Edited By Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept