नये साल पर माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए उमड़ेगी भीड़, कश्मीर के पर्यटनस्थल भी पैक

New Year 2020 नये साल का जश्‍न मनाने के लिए जम्‍मू और कश्मीर में पर्यटक पहुंच चुके हैं माता वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए भी हजारों लोग पहुंच रहे हैं।

Babita KashyapPublish: Tue, 31 Dec 2019 09:12 AM (IST)Updated: Tue, 31 Dec 2019 09:12 AM (IST)
नये साल पर माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए उमड़ेगी भीड़, कश्मीर के पर्यटनस्थल भी पैक

जम्मू, जेएनएन। नया साल इस बार नया जम्मू कश्मीर नये जोश के साथ मनाने की तैयारी में है। कश्मीर हो या जम्मू के पर्यटनस्थल सैलानियों से लगभग पैक हो चुके हैं। आतंकवाद के कारण हिमाचल जाने वाले सैलानी अब शांत जम्मू कश्मीर की तरफ रुख कर रहे हैं। मौजूदा समय में जम्मू कश्मीर के पर्यटन स्थल बर्फ से लकदक हैं जो पर्यटकों को आकर्षित कर रहे हैं। वहीं माता वैष्णो देवी के दर्शन करने के लिए हजारों श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ेगी। 

गुलमर्ग

धरती की जन्नत कश्मीर में वैसे तो कई पर्यटक स्थल हैं, लेकिन नये साल का जश्न मनाना हो तो मिनी स्विजरलैंड गुलमर्ग जैसा डेस्टिनेशन कहीं नहीं है। मौजूदा समय में गुलमर्ग बर्फ की चादर में ढका है। भारी बर्फबारी के चलते यहां 15 दिन पहले से सैलानी पहुंचने लगे हैं। पर्यटन विभाग ने सैलानियों की बढ़ती संख्या देख 31 दिसंबर को गुलमर्ग में विशेष आयोजन किए हैं। म्यूजिकल नाइट, स्कीइंग, स्नो बाइक आदि कई कार्यक्रम सुबह से रात तक होंगे। स्नो बाइक और स्कीइंग के लिए अन्य राज्यों से प्रशिक्षित लोग यहां पहुंचे हैं। रात को पहली बार गुलमर्ग  को रंग-बिरंगी जगनमालाओं से सजाया जाएगा। देर रात तक कार्यक्रम होंगे। 70 से अधिक छोटे बड़े होटल हैं जो लगभग सैलानियों से भरे हैं। 

 नवविवाहित जोड़ों की पसंद है गुलमर्ग  

गुलमर्ग में पर्यटकों में अधिकतर नवविवाहित जोड़े हैं जो नये साल का जश्न नये जम्मू कश्मीर में मनाने पहुंचे हैं। दिल्ली से आए मोहित ने कहा कि वे 25 दिसंबर को श्रीनगर पहुंचे। पहले से ही गुलमर्ग मेंं होटल बुक कर रख था। उन्होंने कहा कि नये साल का जश्न गुलमर्ग मेंं मनाने का मजा अलग है। नोएडा से परिवार के साथ आए मोहित ने कहा कि पहले हमने हिमाचल जाने की योजना बनाई थी, लेकिन परिवार के अन्य सदस्यों ने कश्मीर जाने का ट्रिप बना लिया। गुलमर्ग में गुजरात, मुंबई, बंगाल से भी काफी संख्या में पर्यटक पहुंचे हैं। 

 पत्नीटॉप

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय  राजमार्ग पर 120 किमी. की दूरी पर प्रसिद्ध पत्नीटॉप की हसीन वादियां भी गुलमर्ग से कम नहीं। 31 दिसंबर रात को ताजा बर्फबारी की संभावनाओं के बीच पर्यटकों का जमावड़ा बढ़ रहा है। पत्नीटाप के मैदान में तीन से चार फीट और नत्थाटॉप में छह से सात फीट बर्फ जमा है। पत्नीटॉप में लंबे अर्से के बाद 31 दिसंबर से पूर्व बर्फबारी हुई है। एक सप्ताह से यहां पर्यटक बर्फबारी का लुत्फ उठाने पहुंच रहे हैं। 31 दिसंबर शाम को यादगार बनाने के लिए होटल प्रबंधक विशेष कार्यक्रम आयोजित करेंगे। रात 12 बजे नए साल के स्वागत में केक काटकर 2020 का जश्न मनाया जाएगा। 

नत्थाटॉप

पत्नीटॉप से सटे नत्थाटॉप में  पिछले दिनों हुई भारी बर्फबारी के कारण पर्यटकों के लिए स्कीइंग की व्यवस्था भी है। कुछ स्थानीय युवा पर्यटकों को स्कीइंग करवा रहे हैं। पर्यटक इसका लुत्फ उठाने पहुंच रहे हैं। स्थानीय युवाओं द्वारा नत्थाटॉप व पत्नीटॉप में बर्फ से कई आकृतियां बनाई हैं जिनके साथ पर्यटक फोटो खिंचवाकर पलों  को यादगार बना रहे हैं। पर्यटक स्लेजिंग व स्कीइंग का मजा ले रहे हैं। 

माता वैष्णो देवी

नये साल का जश्न मनाने वालों में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो मां वैष्णो देवी का आशीर्वाद लेने पहुंचते हैं। 31 दिसंबर को मां के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या करीब 45 हजार पार कर जाएगी। पिछले साल तो 50 हजार से अधिक श्रद्धालु साल के अंतिम दिन दर्शन को पहुंच गए थे।  श्री माता वैष्णो  देवी श्राइन बोर्ड के विशेष प्रबंध किए हैं। कटड़ा में लगभग सभी होटल नये साल के शुभारंभ पर लगभग एक सप्ताह तक पैक चल रहे हैं। भवन पर रहने और हेलीकॉप्टर सेवा के लिए ऑनलाइन बुकिंग दो जनवरी तक फुल हो चुकी है। 

 अलग सा जुड़ाव है

बरसों से जम्मू कश्मीर का पर्यटकों से अलग जुड़ाव रहा है। आतंकवाद हो या फिर अन्य कारण हमेशा देश-विदेश से पर्यटक जम्मू कश्मीर घूमने जरूर पहुंचे हैं। सिर्फ जम्मू संभाग में ही इस वर्ष अब तक एक करोड़ 50 लाख से अधिक पर्यटक घूम चुके हैं। जबकि कश्मीर घूमने वालों की संख्या   भी लाखों में है। 

-पत्नीटॉप में नए साल के स्वागत की तैयारियां पूरी है। होटलों में डीजे पार्टी व बफे का इंतजार किया गया है। होटलों में हीङ्क्षटग प्रबंध किए गए है ताकि पर्यटकों को किसी तरह की असुविधा न हो। नए साल के स्वागत में होटलों को सजाया गया है। रात में अगर पर्यटक पत्नीटॉप मैदान में मौज-मस्ती कर देर रात से लौटना चाहे तो उनके लिए वाहनों की विशेष व्यवस्था की गई है। होटलों में बुङ्क्षकग भी अच्छी है और उम्मीद है कि मंगलवार को काफी संख्या में लोग यहां पहुंचेंगे। पिछले कुछ सालों से जनवरी में यहां बर्फबारी हो रही थी लेकिन इस बार दिसंबर में अच्छी बर्फबारी होने से हर कोई उत्साहित है। 

-सरदार सीके सिंह, चेयरमैन पत्नीटॉप होटल, बार एंड रेस्तरां एसोसिएशन

Edited By Babita kashyap

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept