बिहार में अधिकारी के आवास पर मिले नोट गिनते-गिनते हो गई रात, बच्चे ने खोल दी काली कमाई की पोल

ड्रग इंस्पेक्टर जीतेंद्र कुमार के आवास से टीम को 4.11 करोड़ रुपये नकद हाथ लगे हैैं। रात दो बजे तक टीम को नोट गिनने पड़े। नोटों को गिनने के लिए दो मशीनें लगाई गई थीं। बावजूद गिनने में देर रात हो गई।

Akshay PandeyPublish: Sun, 26 Jun 2022 10:58 PM (IST)Updated: Sun, 26 Jun 2022 10:58 PM (IST)
बिहार में अधिकारी के आवास पर मिले नोट गिनते-गिनते हो गई रात, बच्चे ने खोल दी काली कमाई की पोल

राज्य ब्यूरो, पटना : निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के हत्थे चढ़े पटना के ड्रग इंस्पेक्टर जीतेंद्र कुमार के आवास से टीम को 4.11 करोड़ रुपये नकद हाथ लगे हैैं। शनिवार को हुई कार्रवाई के क्रम में नोटों के बंडल के बंडल जब मिलने शुरू हुए तो सहसा निगरानी टीम को यकीन नहीं हुआ। रात दो बजे तक टीम को नोट गिनने पड़े। रविवार को निगरानी ने आधिकारिक तौर पर 4.11 करोड़ नकद मिलने की पुष्टि की। निगरानी ब्यूरो के अनुसार ड्रग इंस्पेक्टर के घर से मिले नोटों को गिनने के लिए दो मशीनें लगाई गई थीं। बावजूद गिनने में रात के दो बज गए। जब गिनती खत्म हुई तो पता चला अधिकारी ने घर में कुल चार करोड़ 11 लाख 39 हजार सात सौ नोट छिपा कर बोरे में रखे गए थे। 

यह भी पढ़ें: बीजेपी-जेडीयू के दो बड़े नेताओं के बीच जारी रार में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह की एंट्री...अपने खास अंदाज में दी यह सलाह

पत्नी व भाई ने टीम को भरमाने की पूरी कोशिश की

बताया जाता है कि छापेमारी में शामिल अफसरों का सामना ड्रग इंस्पेक्टर जीतेंद्र कुमार से तो नहीं हुआ पर उनकी पत्नी व भाई ने टीम को भरमाने की पूरी कोशिश की। जब भी टीम किसी कमरे के तरफ बढ़ती परिवार के लोग उस कमरे को किसी और का बता देते। निगरानी टीम को कार्रवाई में परिवार के एक बच्चे की मदद लेनी पड़ी तब कहीं काली कमाई की जानकारी मिल सकी। 

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक संकट की असली वजह क्या है...बिहार के सीएम नीतीश कुमार के मंत्री ने साफ-साफ बता दिया 

जांच को पहुंचे 14 अधिकारी पड़ गए कम

पहले टीम में कुल 14 अधिकारी शामिल थे। बाद में छह अन्य अधिकारियों को बुलाना पड़ा। निगरानी के अनुसार टीम को ड्रग इंस्पेक्टर की 27 संपत्तियों के दस्तावेज भी मिले हैं। संपत्तियां बिहार के बाहर दूसरे राज्यों में भी हैं। इसके अलावा उनकी बेनामी संपत्ति को लेकर भी कई अहम जानकारी हाथ लगी है। तलाशी में विभिन्न बैंकों के आठ पासबुक और निवेश से जुड़े कागजात भी हाथ लगे हैैं। 

यह भी पढ़ें: पत्नी से किसका विवाद नहीं होता,मगर कोई ऐसी-वैसी हरकत करेगा तो...मुजफ्फरपुर में गोली मारने के आरोपित ने रखी अपनी बात

Edited By Akshay Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept