एएमयू में रोजगार के अवसरों पर किया मंथन, छात्र-छात्राओं को दिए टिप्‍स

एएमयू के इंजीनियरिंग कालेज के पूर्व छात्र और इंडियन आयलल कारपोरेशन लिमिटेड के ग्रेड ए अधिकारी अब्दुल्ला अंसारी और नवेद खान ने इंजीनियरिंग छात्रों को संबोधित करते हुए स्नातक पास करने के बाद करियर की संभावनाओं के बारे में विस्तार से बताया।

Sandeep Kumar SaxenaPublish: Tue, 05 Jul 2022 02:39 PM (IST)Updated: Tue, 05 Jul 2022 05:19 PM (IST)
एएमयू में रोजगार के अवसरों पर किया मंथन, छात्र-छात्राओं को दिए टिप्‍स

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। एएमयू के इंजीनियरिंग कालेज के पूर्व छात्र और इंडियन आयलल कारपोरेशन लिमिटेड के ग्रेड ए अधिकारी अब्दुल्ला अंसारी और नवेद खान ने इंजीनियरिंग छात्रों को संबोधित करते हुए स्नातक पास करने के बाद करियर की संभावनाओं के बारे में विस्तार से बताया। अब्दुल्ला अंसारी और नवेद खान ने 2020 में एएमयू से बी.टेक (इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग) पूरा किया।

पीएचडी के पाठयक्रमों में अवसर

उन्होंने इंस्टीट्यूट ऑफ इलेक्ट्रिकल एंड इलेकट्रानिक्स इंजीनियर्स (आईईईई) की छात्र शाखा द्वारा आयोजित चर्चा में कहा कि गेट के लिए अर्हता प्राप्त करने के बाद, निजी कंपनियों और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों, पीएचडी पाठ्यक्रमों में रोजगार सहित विभिन्न कैरियर के अवसर हैं। इसमें प्रवेश, फेलोशिप कार्यक्रम और विदेश में अध्ययन के अनेक अवसर हैं। गेट योग्य उम्मीदवार 200 से अधिक सार्वजनिक क्षेत्र की संस्थाओं में रोजगार के लिए पात्र हैं। अच्छे गेट स्कोर वाले उम्मीदवारों को प्रायोजन कार्यक्रम भी मिलते हैं जो उन्हें विभिन्न सरकारी एजेंसियों के साथ काम करने की अनुमति देते हैं। इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग के अध्यक्ष प्रो. सलमान हमीद, प्रो. मुहम्मद रेहान, महाना महमूद भी मौजूद रहे।

राष्ट्रीय जल संरक्षण मिशन शुरू

अलीगढ़ : एमएयू के भौतिकी विभाग ने वर्षा जल संरक्षण, इसके तर्कसंगत उपयोग और भूजल को बढ़ाने के लिए ‘जल शक्ति अभियान-रेन कैच अभियान 2022’ शुरु किया गया। लोगों के बीच जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। सिविल इंजीनियरिंग विभाग के प्रो. मुहम्मद मसरूर आलम ने जल की उत्पत्ति, इसके प्रकार और जल संरक्षण की प्रक्रिया के बारे में बताया। साथ ही कहा हमें जल संरक्षण के लिए तत्‍पर रहना चाहिए। 

भारत का एक तिहाई भाग सूखा

भौतिक विज्ञान विभाग के अध्यक्ष प्रो. बीपी सिंह ने कहा कि भूजल के अत्यधिक दोहन से भारत का एक तिहाई भूभाग सूख रहा है, जिसके बाद सरकार ने राष्ट्रीय जल संरक्षण मिशन शुरू किया है। डा. जय प्रकाश ने भी विचार रखे।

Edited By Sandeep Kumar Saxena

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept