Bihar News: गुस्साईं लालू की पत्नी राबड़ी ने सीबीआइ के सामने जड़ा तमाचा, माजरा देख तेजप्रताप चौंके

राजद कार्यकर्ताओं को हंगामा करते देख राबड़ी देवी अपने आवास के बाहर आ गईं। उन्होंने समझाने का प्रयास किया। उग्र लोग नहीं माने तो राबड़ी ने सीबीआइ के सामने एक कार्यकर्ता को थप्पड़ जड़ दिया। माजरा देख बगल में खड़े तेजप्रताप चौंक गए।

Akshay PandeyPublish: Fri, 20 May 2022 10:32 PM (IST)Updated: Fri, 20 May 2022 10:32 PM (IST)
Bihar News: गुस्साईं लालू की पत्नी राबड़ी ने सीबीआइ के सामने जड़ा तमाचा, माजरा देख तेजप्रताप चौंके

जागरण टीम, पटना। पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर शुक्रवार सुबह सीबीआइ (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो) की टीम पहुंच गई। लालू के रेल मंत्री रहने के दौरान रेलवे की ग्रुप-डी बहाली में जमीन लेकर नौकरी देने के मामले में सीबीआइ ने घटों छापेमारी की। इस दौरान सीबीआइ टीम के द्वारा राबड़ी और तेजप्रताप को अपशब्द कहे जाने की भी बात सामने आई। लिहाजा कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध किया। हालांकि तेजप्रताप के समझाने पर लोग शांत हो गए। इस बीच सीबीआइ की कार्रवाई खत्म होने के बाद लालू यादव की पत्नी का एक अलग ही चेहरा देखने को मिला। राबड़ी आवास पर छापेमारी खत्म होने के बाद सीबीआइ बाहर निकलने लगी तो राजद कार्यकर्ता विरोध में नारे लगाने लगे। वह सीबीआइ को बाहर जाने ही नही दे रहे थे। मामला देखते ही राबड़ी देवी अपने आवास के बाहर आ गईं। उन्होंने कार्यकर्ताओं को समझाने का प्रयास किया। उग्र लोग नहीं माने तो राबड़ी ने सीबीआइ के सामने एक कार्यकर्ता को थप्पड़ जड़ दिया।

माजरा देख बगल में खड़े तेजप्रताप भी चौंक गए। आपा खो बैठीं राबड़ी से तेजप्रताप ने भीड़ से अलग होने को कहा। हालांकि फिर मामला शांत हो गया। विरोध में नारेबाजी के दौरान राजद कार्यकर्ताओं ने सीबीआइ की टीम को वापस जाने दिया। देर रात तक पटना के 10 सर्कुलर रोड स्थित राबड़ी आवास के बाहर राजद कार्यकर्ताओं का जमावड़ा लगा रहा। 

राबड़ी आवास के बाहर डटे रहे कार्यकर्ता

पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर शुक्रवार सुबह सीबीआइ (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो) के छापे की खबर सुनते ही 11:00 बजे तक राज्य के अलग-अलग जिलों से सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता 10 सर्कुलर रोड पहुंच गए और विरोध प्रदर्शन करने लगे। इस बीच कई वर्तमान और कई पूर्व विधायक भी समर्थकों के साथ पहुंचे। केंद्र व राज्य सरकार एवं सीबीआइ की टीम के खिलाफ नारेबाजी की। इसके बाद तेजप्रताप यादव ने बाहर आकर शांति बनाए रखने का अनुरोध किया। बावजूद इसके नेताओं और कार्यकर्ताओं का रह-रहकर गुस्सा फूटता रहा। महुआ विधायक मुकेश रोशन समर्थकों और कार्यकर्ताओं के साथ धरना पर बैठ गए। कार्यकर्ताओं में महिलाओं की संख्या भी अधिक थी। स्लोगन लिखे बैनर के साथ वे आवास के बाहर मौजूद रहीं। कार्यकर्ताओं के एक दल ने दोपहर 12:30 बजे सीबीआइ का पुतला भी फूंका। युवा कार्यकर्ताओं ने अद्र्धनग्न प्रदर्शन किया। बड़े नेता फोन से पल-पल की जानकारी लेते रहे। 

Edited By Akshay Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept