This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

गाजा पट्टी में 11 दिन बाद थमा खूनी संघर्ष, इजरायल सीजफायर को राजी ; दुनियाभर के देशों ने जताई खुशी

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने इजरायल और फिलिस्तीन के बीच संघर्ष विराम का स्वागत किया और सभी पक्षों से इसका पालन करने का आह्वान किया। ईयू के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल ने भी इजरायल और गाजा पट्टी स्थित हमास इस्लामिक समूह द्वारा किए गए संघर्ष विराम का स्वागत किया है।

Neel RajputFri, 21 May 2021 08:10 AM (IST)
गाजा पट्टी में 11 दिन बाद थमा खूनी संघर्ष, इजरायल सीजफायर को राजी ; दुनियाभर के देशों ने जताई खुशी

नई दिल्ली, एएनआइ। दुनिया भर के नेताओं ने गुरुवार को इजरायल और फिलिस्तीन के बीच युद्धविराम की खबर का स्वागत किया। बता दें कि दोनों देशों के बीच पिछले 10 दिनों से भी ज्यादा समय से तनाव की स्थिति चल रही है, जिसके तहत दोनों पक्षों के बीच हजारों रॉकेट दागे गए।

इजरायली सुरक्षा कैबिनेट ने गुरुवार को सर्वसम्मति से द्विपक्षीय बिना शर्त युद्धविराम के लिए मिस्र की पहल पर सहमति जताई। दोनों देशों के बीच जारी इस संघर्ष में कम से कम 217 फिलिस्तीनी और 12 इजरायली मारे गए हैं।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने इजरायल और फिलिस्तीन के बीच संघर्ष विराम का स्वागत किया और सभी पक्षों से इसका पालन करने का आह्वान किया। गुटेरस ने गुरुवार को कहा, 'मैं 11 दिनों की घातक शत्रुता के बाद गाजा और इजरायल के बीच संघर्ष विराम का स्वागत करता हूं। मैं सभी पक्षों से युद्धविराम का पालन करने का आह्वान करता हूं।'

यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल ने भी इजरायल और गाजा पट्टी स्थित हमास इस्लामिक समूह द्वारा किए गए संघर्ष विराम का स्वागत किया है। मिशेल ने ट्वीट किया, '11 दिनों के संघर्ष को समाप्त करने के लिए इजरायल और हमास के बीच संघर्ष विराम की घोषणा का स्वागत है। नागरिकों के लिए शांति और सुरक्षा के लिए इस अवसर को सीज किया जाना चाहिए।'

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने कहा कि उन्होंने इजरायल और फिलिस्तीन दोनों के नेताओं के साथ बात की और उनकी पुष्टि का स्वागत किया कि दोनों पक्ष युद्धविराम के लिए सहमत हो गए हैं।

ब्लिंकन ने ट्वीट किया, 'मैंने आज @IsraelMFA @Gabi_Ashkenazi के साथ बात की और उनकी पुष्टि का स्वागत किया कि पक्ष मिस्र की मध्यस्थता से युद्धविराम पर सहमत हुए।' उन्होंने कहा, 'मैं आने वाले दिनों में इस क्षेत्र की यात्रा करूंगा और विदेश मंत्री और इजरायल एवं फिलिस्तीनी के अन्य क्षेत्रीय नेताओं से मिलने के लिए उत्सुक हूं।'

ब्रिटेन के विदेश सचिव डॉमिनिक रैब ने भी दोनों देशों के बीच सीजफायर का स्वागत किया और कहा कि सभी पक्षों को संघर्ष विराम को कायम रखने और हिंसा के अस्वीकार्य चक्र और नागरिक जीवन के नुकसान को समाप्त करने के लिए काम करना चाहिए। 'इजरायल और गाजा में संघर्ष विराम की खबर का स्वागत है। सभी पक्षों को संघर्ष विराम को टिकाऊ बनाने के लिए काम करना चाहिए और हिंसा और नागरिक जीवन के नुकसान के अस्वीकार्य चक्र को समाप्त करना चाहिए। ब्रिटेन शांति लाने के प्रयासों का समर्थन करना जारी रखता है।'

संयुक्त राष्ट्र में कनाडा के स्थायी प्रतिनिधि बॉब राय ने गुरुवार को कहा, 'कनाडा इजरायल और फिलिस्तीनियों के बीच संभावित युद्धविराम की खबर का स्वागत करता है, लेकिन यह केवल शुरुआत है।' संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष वोल्कन बोजकिर ने कहा कि अगर इस तरह की कार्रवाई आवश्यक होगी तो वह फिलिस्तीनी प्रश्न पर एक और विशेष बैठक बुलाने के लिए तैयार हैं।

मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने इजरायल-फिलिस्तीनी संघर्ष पर एक आपात बैठक की। इसके बाद, इजरायली सुरक्षा कैबिनेट ने सर्वसम्मति से द्विपक्षीय बिना शर्त युद्धविराम के लिए मिस्र की पहल को अपनाया। स्पुतनिक ने बताया कि हमास ने भी संघर्ष विराम का पालन करने की अपनी योजना की पुष्टि की है।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने घोषणा की कि हमास और इजरायल के बीच संघर्ष के बाद अमेरिका गाजा में फिलिस्तीनियों को तेजी से मानवीय सहायता और पुनर्निर्माण सहायता प्रदान करेगा। बाइडन ने कहा, 'हम संयुक्त राष्ट्र और अन्य अंतरराष्ट्रीय हितधारकों के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं ताकि गाजा के लोगों और गाजा पुनर्निर्माण प्रयासों के लिए तेजी से मानवीय सहायता और मार्शल अंतरराष्ट्रीय समर्थन प्रदान किया जा सके।'

Edited By Neel Rajput