क्या मैं डाक्टर बन पाऊंगी, पढ़िए कुछ इस तरह के उलझन भरे सवालों के जवाब

यदि आप रुचि के साथ नीट की तैयारी को आगे बढ़ा पा रही हैं और आपको इसके सिलेबस और प्रश्नों को लेकर अपने आप पर भरोसा है कि आप इन्हें आसानी से हल कर सकती हैं तो नीट में अपनी सफलता को लेकर आपको कतई संदेह नहीं करना चाहिए।

Sanjay PokhriyalPublish: Wed, 19 Jan 2022 05:15 PM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 05:15 PM (IST)
क्या मैं डाक्टर बन पाऊंगी, पढ़िए कुछ इस तरह के उलझन भरे सवालों के जवाब

ज्यादातर स्टूडेंट अपनी पढ़ाई या फिर किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी को लेकर आश्वस्त नहीं हो पाते। उन्हें अपनी तैयारी पर संशय होता है कि पता नहीं इससे उन्हें वांछित सफलता मिल सकेगी या नहीं। इस तरह के संशय को दूर करते हुए उन्हें प्रेरित करने की जरूरत होती है। वरिष्ठ काउंसलर अरुण श्रीवास्तव स्टूडेंट्स के ऐसे ही सवालों का जवाब देते हुए उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित कर रहे हैं...

मैंने 11वीं में बायोलाजी ली है। मैं नीट की तैयारी कर रही हूं। क्या आने वाले समय में मैं डाक्टर बन पाऊंगी?

-वर्णिका ढिल्लो, ईमेल से

नीट के सिलेबस को अच्छी तरह समझ कर पढ़ें। इसके बाद उसका रिवीजन करते करते हुए पिछले कुछ वर्षों के प्रश्नपत्रों को हल करें। जिस खंड में मुश्किल आ रही हो, उस पर और अधिक मेहनत करें। परीक्षा से पहले माक पेपर्स को अधिक से अधिक हल करने का अभ्यास करें। हां, यदि आप अपनी तैयारी को लेकर आश्वस्त नहीं हो पा रही हैं और विकल्प भी लेकर चलना चाहती हैं, तो डाक्टर बनने के लक्ष्य के अलावा अपनी रुचि के अनुसार रेडियोलाजिस्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, पैरामेडिकल एक्सपर्ट, फार्मेसी एक्सपर्ट बनने का विकल्प भी रख सकती हैं। इन सभी क्षेत्रों में अभी और आने वाले समय में भी खूब संभावनाएं हैं।

मैं इग्नू से बीसीए का छात्र हूं। इसी के साथ पालिटिक्स से बीए करना चाहता हूं। क्या मैं ऐसा कर सकता हूं? कृपया मार्गदर्शन करें।

-अंबुज त्रिपाठी, ईमेल से

बीसीए और बीए जैसे कोर्स फुलटाइम कोर्स हैं। ऐसे दो कोर्स नियमत: एक साथ नहीं किए जा सकते। हां, एक फुलटाइम कोर्स के साथ सर्टिफिकेट जैसे कोर्स ही किए जा सकते हैं। आप बीसीए पूरा होने के बाद वांछित विषय में बीए कर सकते हैं।

मैं डिस्टेंस मोड से बीसीए कर रहा हूं। क्या मैं बीपीएससी/यूपीएससी एग्जाम में शामिल हो सकता हूं? यदि हां, तो इन परीक्षाओं में कौन-सा ऐच्छिक विषय लेना ठीक रहेगा?

-कुमार राजन, ईमेल से

किसी मान्यताप्राप्त संस्थान से डिस्टेंस मोड से बीसीए (बैचलर) रेगुलर डिग्री के बराबर ही मान्य है। आपके इसके आधार पर बीपीएससी और यूपीएससी द्वारा आयोजित परीक्षाओं में सम्मिलित हो सकते हैं। जहां तक इन परीक्षाओं में ऐच्छिक विषय चुनने की बात है, तो इसके लिए आपको अपनी रुचि के अनुसार ही निर्णय लेना चाहिए। ऐसा होने पर ही आप रुचि के साथ उसका अध्ययन करते हुए उसमें बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे। आप बीपीएससी/यूपीएससी के मुख्य परीक्षा के सिलेबस में दिए गए ऐच्छिक विषयों की सूची से अपनी पसंद का विषय चुन सकते हैं।

Edited By Sanjay Pokhriyal

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept