This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Narendra Modi Stadium: सिर्फ स्टेडियम का नाम मोदी पर, पटेल के ही नाम पर है परिसर

Narendra Modi Stadium अहमदाबाद में मोटेरा स्टेडियम का नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर रखे जाने का लेकर उठे विवाद के मद्देनजर केंद्र सरकार ने बुधवार को स्पष्ट किया कि सिर्फ स्टेडियम का नाम बदला गया है जबकि पूरे खेल परिसर का नाम सरदार पटेल पर ही रहेगा।

Ramesh MishraThu, 25 Feb 2021 06:37 AM (IST)
Narendra Modi Stadium: सिर्फ स्टेडियम का नाम मोदी पर, पटेल के ही नाम पर है परिसर

नई दिल्ली, प्रेट्र । Narendra Modi Stadium अहमदाबाद में मोटेरा स्टेडियम का नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर रखे जाने का लेकर उठे विवाद के मद्देनजर केंद्र सरकार ने बुधवार को स्पष्ट किया कि सिर्फ स्टेडियम का नाम बदला गया है, जबकि पूरे खेल परिसर का नाम सरदार पटेल पर ही रहेगा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को अहमदाबाद स्थित विश्व के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का उद्घाटन किया। इस स्टेडियम का नाम नरेंद्र मोदी स्टेडियम रखा गया है। इसे अभी तक मोटेरा स्टेडियम के नाम से जाना जाता था। नाम बदले जाने पर इंटरनेट मीडिया पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं आने लगीं। 

कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों के नेताओं ने इसे सरदार पटेल का अपमान बताया। इस पर सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सिर्फ स्टेडियम का नाम बदला गया है। जबकि खेल परिसर सरदार वल्लभ भाई पटेल के ही नाम पर रहेगा। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस नेताओं को आड़े हाथों लेते हुए सवाल किया कि क्या कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी या उनके पुत्र राहुल गांधी ने कभी गुजरात के केवडि़या स्थित सरदार पटेल की विश्व की सबसे ऊंची मूर्त की प्रशंसा की। जावडेकर ने कहा कि दोनों नेता अभी तक केवडि़या गए भी नहीं हैं। 

इस मामले में कांग्रेस नेता शशि थरूर ने ट्वीट किया कि शायद उन्हें लगा होगा कि यह स्टेडियम एक गृह मंत्री के नाम पर था जिसने उनकी पितृ संस्था पर प्रतिबंध लगाया था। कांग्रेस सांसद राजीव सातव ने कहा कि मोटेरा स्टेडियम का नाम सरदार पटेल से नरेंद्र मोदी के नाम पर करना शर्म की बात है। यह दर्शाता है कि हमारे प्रधानमंत्री कितने आत्ममुग्ध हो गए हैं। यह अपमानजनक है और निरंकुश तानाशाही का स्पष्ट संकेत है।कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने स्टेडियम के बारे में सीधा जिक्र न करते हुए सरदार पटेल के एक कथन को साझा किया कि इस मिट्टी में कुछ अनूठा है, जहां कई बाधाओं के बावजूद हमेशा महान आत्माओं का निवास रहा है। 

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि बिना संदेह के यह बात साबित हो गई है कि भाजपा कभी गेमचेंजर नहीं हो सकती। वह केवल नेमचेंजर (नाम बदलने वाली) हो सकती है। वहीं कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि आज भाजपा में जो व्यक्ति सबसे ज्यादा दुखी होगा वह लालकृष्ण आडवाणी होंगे। वे सोच रहे होंगे कि उप प्रधानमंत्री रहते उन्होंने कुछ योजनाओं और स्टेडियम के नाम अपने नाम पर क्यों नहीं रखे। 

 राहुल ने ट्वीट कर जताई आपत्ति

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोटेरा स्टेडियम का नामकरण नरेंद्र मोदी के नाम पर किए जाने पर 'हम दो हमारे दो' का उल्लेख किया। गांधी ने दावा किया कि स्टेडियम का नाम प्रधानमंत्री के नाम पर होने, दो छोर के नाम कार्पोरेट घरानों के नाम पर होने और गृह मंत्री अमित शाह के पुत्र की क्रिकेट प्रशासन में शामिल होने से सच्चाई सामने आ गई है। राहुल ने हम दो हमारे दो हैशटैग के साथ ट्वीट किया कि सच कितनी खूबसूरती से सामने आता है। नरेंद्र मोदी स्टेडियम-अदाणी छोर-रिलायंस छोर। जय शाह की अध्यक्षता।