This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

उस्मानिया कैंपस में सुसाइड, तेलंगाना को लेकर तनाव

हैदराबाद। पृथक तेलंगाना राज्य के गठन में हो रही देरी को लेकर हैदराबाद स्थित उस्मानिया विश्वविद्यालय के एक छात्र ने मंगलवार रात आत्महत्या कर ली, जिसे लेकर बुधवार को विश्वविद्यालय परिसर में तनाव बना हुआ है। शहर के एक कॉलेज के स्नातक कक्षा के छात्र वी संतोष ने उस्मानिया विश्वविद्यालय में आर्ट्स कॉलेज के सामने एक पेड़ से फंदा लगाकर ल

Wed, 07 Nov 2012 05:27 PM (IST)
उस्मानिया कैंपस में सुसाइड, तेलंगाना को लेकर तनाव

हैदराबाद। पृथक तेलंगाना राज्य के गठन में हो रही देरी को लेकर हैदराबाद स्थित उस्मानिया विश्वविद्यालय के एक छात्र ने मंगलवार रात आत्महत्या कर ली, जिसे लेकर बुधवार को विश्वविद्यालय परिसर में तनाव बना हुआ है। शहर के एक कॉलेज के स्नातक कक्षा के छात्र वी संतोष ने उस्मानिया विश्वविद्यालय में आर्ट्स कॉलेज के सामने एक पेड़ से फंदा लगाकर लटक गया।

अदिलाबाद जिले के निवासी संतोष ने एक सुसाइड नोट में शासन पर तेलंगाना राज्य के गठन में रोड़ा अटकाने का आरोप लगाया है। इस घटना की खबर फैलते ही कॉलेज परिसर में बुधवार को कई छात्र जमा हो गए और सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। विश्वविद्यालय परिसर में उस समय तनाव बढ़ गया जब पुलिस द्वारा संतोष के शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने की कोशिश का छात्रों ने विरोध किया। गुस्साए छात्रों ने एक पुलिसवाले की पिटाई भी कर दी।

प्रदर्शनकारी छात्र माग कर रहे हैं कि जब तक तेलंगाना से काग्रेस पार्टी के सभी मंत्री और सासद इस्तीफे नहीं दे देते तब तक शव को पोस्टमार्टम के लिए नहीं ले जाया जाए। छात्र विश्वविद्यालय से विधानसभा के पास स्थित गन पार्क तक शव यात्रा भी निकालना चाहते हैं लेकिन पुलिस ने इसकी अनुमति देने से इन्कार कर दिया है।

उस्मानिया विश्वविद्यालय के छात्रों की संयुक्त कार्रवाई समिति ने तेलंगाना के सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद रखने का आह्वान किया है। विश्वविद्यालय ने बुधवार और गुरुवार को होने वाली सभी परीक्षाएं रद्द कर दी हैं।

गौरतलब है कि पिछले तीन सालों में पृथक तेलंगाना राज्य की माग को लेकर तेलंगाना समर्थक संगठनों के 600 से ज्यादा लोग आत्महत्याएं कर चुके हैं, जिनमें से ज्यादातर युवा शामिल रहे हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

Edited By