थमने लगी कोरोना की रफ्तार तो खुलने लगे School, जानें किन राज्‍यों ने स्‍कूलों को खोलने का लिया फैसला

Schools Reopen कोरोना महामारी के कम होते प्रकोप को देखते हुए कई राज्‍यों ने स्‍कूलों को फिर से खोलने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। आइये जानें किन राज्‍यों में स्‍कूल चुके हैं या खुलने जा रहे हैं।

Krishna Bihari SinghPublish: Sat, 29 Jan 2022 04:22 PM (IST)Updated: Sun, 30 Jan 2022 05:39 AM (IST)
थमने लगी कोरोना की रफ्तार तो खुलने लगे School, जानें किन राज्‍यों ने स्‍कूलों को खोलने का लिया फैसला

नई दिल्‍ली, एजेंसियां/जेएनएन। देश में कोरोना की तीसरी लहर अब थमती नजर आ रही है। स्‍कूली बच्‍चों में संक्रमण की रोकथाम के लिए 15 से 18 साल के किशोरों का टीकाकरण भी जारी है। सूत्रों की मानें तो केंद्र सरकार पर इस मसले पर कोई बड़ी पहल कर सकती है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह से देशभर में स्कूलों को खोलने के तौर-तरीकों पर सुझाव देने को कहा है। महामारी के कम होते प्रकोप को देखते हुए कई राज्‍यों ने स्‍कूलों को फिर से खोलने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। आइये जानें किन राज्‍यों में स्‍कूल चुके हैं या खुलने जा रहे हैं।

महाराष्ट्र में खुले पहली से 12वीं तक के स्कूल

महाराष्ट्र में 24 जनवरी से कक्षा पहली से 12वीं तक के स्कूलों को खोला गया है। हालांकि राज्‍य में अधिक संक्रमण दर वाले जिलों में स्कूलों को खोलने का फैसला स्थानीय प्रशासन पर छोड़ दिया गया है। 

पहली फरवरी से हरियाणा में खुलेंगे स्‍कूल

हरियाणा सरकार ने पहली फरवरी से सभी सरकारी और निजी स्कूलों को खोलने का आदेश दिया है। राज्‍य में पहली फरवरी से स्‍कूलों में 10वीं से बारहवीं तक की कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। सरकार की ओर से जारी बयान के मुताबिक छठी से नौवीं तक की कक्षाएं शुरू करने के लिए फैसला बाद में लिया जाएगा।

तमिलनाडु और कर्नाटक में भी खुलेंगे स्कूल

तमिलनाडु सरकार ने पहली फरवरी से कक्षा एक से 12 तक के छात्रों के लिए कक्षाएं फिर से शुरू करने की घोषणा की है। वहीं कर्नाटक सरकार ने 31 जनवरी से पहली से नौवीं तक की कक्षाएं खोलने का फैसला लिया है। इसके साथ ही 31 जनवरी से रात का कर्फ्यू हटा दिया जाएगा। ‌

दिल्‍ली और यूपी में स्‍कूल बंद

उत्तर प्रदेश सरकार ने स्कूल और कालेज को छह फरवरी तक बंद करने का आदेश दिया है। इस दौरान आनलाइन कक्षाएं चलती रहेंगी। वहीं दिल्ली आपदा प्रबंधन ने केंद्र शासित प्रदेश में अभी स्कूलों को खोलने की अनुमति नहीं दी है।

उत्तराखंड और त्रिपुरा में 31 जनवरी से खुलेंगे स्कूल

उत्तराखंड सरकार ने 31 जनवरी से 10वीं से 12वीं तक के सभी स्कूलों को खोलने का निर्देश दिया है। हालांकि आंगनबाड़ी केंद्रों और कक्षा पहली से नौवीं तक के विद्यालय बंद रहेंगे। इनमें आनलाइन माध्‍यम से पढ़ाई जारी रहेगी। वहींं त्रिपुरा सरकार ने भी राज्‍य के सभी स्कूलों और मदरसों (प्री-प्राइमरी से 12वीं कक्षा तक) को 31 जनवरी से सख्‍त कोविड प्रोटोकाल के साथ सामान्य रूप से खोलने की अनुमति दी है।

राजस्थान में भी खुलेंगे स्‍कूल

राजस्थान सरकार ने 10वीं और 12वीं कक्षा के लिए स्‍कूलों को पहली फरवरी से स्‍कूलों को खोलने के निर्देश दिए हैं। 10 फरवरी से 6वीं से 9वीं कक्षा के लिए भी आफलाइन कक्षाएं शुरू कर दी जाएंगी।

मध्‍य प्रदेश के सीएम ने कही यह बात

मध्‍य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि 31 जनवरी से पहले हम कोविड की स्थितियों की समीक्षा करेंगे। अगर संक्रमण के केस कम हुए तो फिर से स्कूलों को खोलने को लेकर विचार हो सकता है।

केंद्र ने भी शुरू किया इस दिशा में काम

अब पूरे देश में स्कूल, कालेजों समेत दूसरे शैक्षणिक संस्थानों को फिर से खोलने की तैयारी शुरू हो गई है। हालांकि छात्रों की सुरक्षा को लेकर केंद्र सरकार की ओर से कुछ जरूरी दिशा-निर्देश दिए जा सकते है। केंद्र सरकार ने सभी राज्यों से 15 साल से ज्यादा उम्र वाले छात्रों के टीकाकरण की जानकारी मांगी है। शिक्षा मंत्रालय से जुड़े सूत्रों ने बताया कि कई राज्यों ने तो इसे मसले पर केंद्र से संपर्क साधा है। राज्‍यों ने स्कूलों समेत दूसरे शैक्षणिक संस्थानों को खोलने को लेकर दिशा-निर्देश जारी करने की मांग की है। सूत्रों की मानें तो शिक्षा मंत्रालय ने इस दिशा में काम शुरू कर दिया है।  

Koo App

मुख्यमंत्री श्री @ChouhanShivraj ने निवास पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग जी एवं उच्च अधिकारियों के साथ कोरोना की स्थिति के संबंध में समीक्षा बैठक की और आवश्यक निर्देश दिए।

View attached media content

- CM Madhya Pradesh (@CMMadhyaPradesh) 29 Jan 2022

Edited By Krishna Bihari Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept