Quad Summit in Japan: समिट में जाने से पहले बोले पीएम मोदी, इंडो-पैसिफिक में विकास और आपसी हित के वैश्विक मुद्दों पर ही रहेगा फोकस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 23 मई को जापानी पीएम फुमियो किशिदा के निमंत्रण पर टोक्यो जा रहे हैं। यहां वह दूसरे व्यक्तिगत क्वाड लीडर्स समिट में भाग लेंगे जो 4 क्वाड देशों के नेताओं को क्वाड पहल की प्रगति की समीक्षा करने का अवसर प्रदान करेगा।

Achyut KumarPublish: Sun, 22 May 2022 01:01 PM (IST)Updated: Sun, 22 May 2022 03:56 PM (IST)
Quad Summit in Japan: समिट में जाने से पहले बोले पीएम मोदी, इंडो-पैसिफिक में विकास और आपसी हित के वैश्विक मुद्दों पर ही रहेगा फोकस

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 23 मई को दो दिवसीय दौरे पर जापान जा रहे हैं। जापान में पीएम दूसरे व्यक्तिगत क्वाड लीडर्स समिट में भाग लेंगे। क्वाड लीडर्स समिट 4 क्वाड देशों के नेताओं को क्वाड पहल की प्रगति की समीक्षा करने का अवसर प्रदान करेगा। समिट से पहले पीएम ने बताया कि इस बार सभी नेता इंडो-पैसिफिक में विकास और आपसी हित के वैश्विक मुद्दों पर ही फोकस करेंगे।

पीएम मोदी इन कार्यक्रमों में लेंगे हिस्सा

पीएम मोदी 23 मई को जापान पहुंचेंगे और बिजनेस लीडर्स के साथ-साथ 35 बिजनेस सीईओ के साथ वन-टू-वन फार्मेट में बातचीत भी करेंगे। जापान में भारतीय राजदूत एसके वर्मा ने बताया कि पीएम इसके बाद, एक भारतीय प्रवासी समुदाय के कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे और 24 मई को पूरा फोकस क्वाड मीटिंग पर ही होगा।

उन्होंने बताया कि पीएलआई योजना सहित भारत में निवेश को लेकर जापान काफी उत्साहित है। इसलिए जापान के निवेशकों को हमें बेहतर ढंग से समझने की जरूरत है और हमें उन्हें बेहतर ढंग से समझने की जरूरत है। राजदूत ने आगे कहा कि भारत-जापान के दोनों नेता इस साल जब दिल्ली में मिले थे, तो जापानी पीएम की आकांक्षा थी कि भारत में सार्वजनिक, निजी और वित्तपोषण के माध्यम से 5 ट्रिलियन येन का निवेश किया जाए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जापान दौरा काफी अहम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जापान दौरा इस लिहाज से काफी अहम है, क्‍योंकि रूस यूक्रेन जंग के दौरान तीन देशों के राष्‍ट्राध्‍यक्ष एक मंच साझा करेंगे। इस दौरे में वह अमेरिका, जापान व आस्‍ट्रेलिया के राष्‍ट्राध्‍यक्षों के साथ अलग-अलग मुलाकात करेंगे। 

भारत के लिए क्वाड बेहद उपयोगी मंच

क्‍वाड की इस बैठक में अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडन भी शामिल होंगे। कूटनीतिक लिहाज से क्‍वाड की यह बैठक बेहद उपयोगी है। भारत चीन सीमा विवाद को देखते हुए भारत के लिए क्‍वाड बेहद उपयोगी मंच है।

मार्च 2021 में डिजिटल माध्यम से हुई पहली बैठक

बता दें कि मार्च 2021 में डिजिटल माध्यम से हुई पहली बैठक के बाद क्‍वाड नेताओं के बीच यह चौथी वार्ता है। वाशिंगटन में सितंबर 2021 में क्‍वाड नेताओं ने उपस्थित होकर बैठक में हिस्सा लिया था, जबकि मार्च 2022 में डिजिटल माध्यम से बैठक हुई थी।

Edited By Achyut Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept