Omicron Outbreak: देश में ओमिक्रोन के मामलों की कुल संख्या हुई 2135, महाराष्ट्र और दिल्ली में सबसे अधिक केस

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में ओमिक्रोन के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 2135 हो गई है। महाराष्ट्र और दिल्ली में ओमिक्रोन के सबसे ज्यादा 653 और 464 मामले हैं। वहीं बताया गया कि ओमिक्रोन के अब तक सामने आए 2135 मरीजों में से 828 मरीज रिकवर हो चुके हैं।

Nitin AroraPublish: Wed, 05 Jan 2022 09:48 AM (IST)Updated: Wed, 05 Jan 2022 10:12 AM (IST)
Omicron Outbreak: देश में ओमिक्रोन के मामलों की कुल संख्या हुई 2135, महाराष्ट्र और दिल्ली में सबसे अधिक केस

नई दिल्ली, एजेंसी। भारत में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी देखी जा रही है। कोरोना के नए वैरिएंट ने भी सबकी चिंता बढ़ाई हुई है। ओमिक्रोन के मामले भी हर दिन के साथ बढ़ रहे हैं। ओमिक्रोन ने सबसे अधिक महाराष्ट्र और दिल्ली को प्रभावित किया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में ओमिक्रोन के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 2,135 हो गई है। महाराष्ट्र और दिल्ली में ओमिक्रोन के सबसे ज्यादा 653 और 464 मामले हैं। वहीं, बताया गया कि ओमिक्रोन के अब तक सामने आए 2,135 मरीजों में से 828 मरीज रिकवर हो चुके हैं।

महाराष्ट्र और दिल्ली के बाद केरल में स्थिति खराब है। जहां 185 केस दर्ज हो चुके हैं। फिर राजस्थान, गुजरात, तमिलनाडु, तेलंगाना, कर्नाटक, हरियाणा, ओडिशा में सबसे अधिक मामले हैं। इस साल देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में चुनाव भी होने है और वहां भी ओमिक्रोन के 31 केस सामने आ चुके हैं। वहीं, उत्तराखंड, गोवा, पंजाब और मणिपुर में भी इस वैरिएंट के मामले दर्ज हुए हैं।

उधर, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) भी हर दिन के साथ ओमिक्रोन को लेकर सतर्क कर रहा है। डब्ल्यूएचओ की अधिकारी ने कहा कि ओमिक्रोन को हल्के में लेने की भूल ना करें। उन्होंने कहा कि सर्दी, खांसी को आम बीमारी समझने की गलती कतई ना करें। ओमिक्रोन मौत का कारण बन सकता है। हालांकि, ये डेल्टा की तुलना में थोड़ा कम घातक है, लेकिन फिर भी इससे सतर्क करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि ओमिक्रोन जंगल में आग की तरह फैल रहा है। अभी ये कम गंभीर नजर आ रहा है, लेकिन आगे अधिक गंभीर हो सकता है। वहीं, डब्ल्यूएचओ ने कोविड मरीजों को 14 दिनों तक क्वारंटीन में रहने की सलाह दी है।

इसके अलावा आज भारत में कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्या 58,097 तक पहुंच गई, जो वाकई में  चिंता का कारण है। एक दिन 55 प्रतिशत मरीज बढ़े हैं, जिससे तीसरी लहर का खतरा और अधिक बढ़ गया है। बीत दिन 15,389 रिकवरी हुईं और 534 लोगों की कोरोना से मौत हुई। सक्रिय मामले बढ़कर 2,14,004 हुए।

Edited By Nitin Arora

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept