This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

तेलंगाना में कुएं से निकले 9 प्रवासी श्रमिकों के शव, मचा हड़कंप

बताया जा रहा है कि मरने वाले सभी श्रमिक बंगाल और बिहार के रहने वाले थे। जिन शवों को निकाला गया है उनमें बच्चों और महिलाओं के शव भी शामिल हें।

Sanjeev TiwariFri, 22 May 2020 04:45 PM (IST)
तेलंगाना में कुएं से निकले 9 प्रवासी श्रमिकों के शव, मचा हड़कंप

हैदराबाद आईएएनएस। तेलंगाना के वारंगल में एक ह्रदयविदारक घटना सामने आई है। जहां एक फैक्ट्री के पास बने कुएं से कल से अब तक कुल 9 शव बरामद हुए हैं। कल जिस कुएं से 4 शव बरामद हुए आज उसी कुएं से पांच और शव बरामद हुए हैं। इस घटना के बाद से इलाके में सनसनी फैल गई है। यह दर्दनाक घटना तेलंगाना के वारंगल रूरल का है। पुलिस ने सारे शवों को निकालकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है। बताया जा रहा है कि मरने वाले सभी श्रमिक बंगाल और बिहार के रहने वाले थे। जिन शवों को निकाला गया है उनमें बच्चों और महिलाओं के शव भी शामिल हें।

पुलिस ने बताया कि मामला वारंगल के ग्रामीण इलाके का है। यहां एक कुएं से 9 शव निकाले गए हैं। पुलिस ने बताया कि उन्हें गीसुगोंडा मंडल के गोर्टेकुंटा इंडस्ट्रियल एरिया में बने एक कुएं के अंदर प्रवासी श्रमिकों के शव पड़े होने की सूचना मिली थी, जिसके बाद मौके पर पहुंचकर उन्होंने शव निकाले। पुलिस ने बताया कि जानकारी के मुताबिक सभी श्रमिक वहां एक कोल्ड स्टोरेज में काम करते थे।

पुलिस ने बताया कि नौ शवों में से एक बच्चा और एक महिला का शव भी शामिल है। पड़ताल में पता चला है कि सात लोग पश्चिम बंगाल के रहने वाले थे और दो मजदूर बिहार के निवासी थे। वे तेलंगाना में कमाने आए थे। लॉकडाउन के बाद से उनकी आमदनी बंद हो गई थी। वे लोग परेशान थे। वे अपने-अपने गांव जाने जाने वाले थे लेकिन अचानक लापता हो गए थे।

कुंए से पानी निकालने के बाद निकाले गए शव

पुलिस ने बताया कि सभी शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए एमजीएम हॉस्पिटल भेजा गया है। केस दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है। प्रवासी श्रमिकों से जुड़े सभी लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। स्थानीय लोगों से भी पड़ताल की जा रही है। पुलिस ने बताया कि शव निकालने के लिए पंप के जरिए पहले कुएं से पानी निकाला गया, उसके बाद शव बाहर निकाले जा सके।

Edited By: Sanjeev Tiwari