This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को आइसोलेट करने वाला पहला देश बना भारत : आइसीएमआर

आईसीएमआर ने दावा किया है कि दुनिया में सबसे पहले भारत ने ब्रिटेन में पाए गए कोरोना के नए स्‍ट्रेन का सफलतापूर्वक कल्चर किया है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद यानी आईसीएमआर के मुताबिक नमूने ब्रिटेन से लौटे लोगों से एकत्र जुटाए गए थे।

Krishna Bihari SinghSun, 03 Jan 2021 12:28 AM (IST)
कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को आइसोलेट करने वाला पहला देश बना भारत : आइसीएमआर

नई दिल्‍ली, पीटीआइ। ब्रिटेन में दो हफ्ते पहले सामने आए कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के मामले में भारतीय विज्ञानियों ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। भारत पहला देश बन गया है जिसने इस स्ट्रेन को प्रयोगशाला में अलग (आइसोलेट) करने में कामयाबी हासिल की है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) ने शनिवार को यह जानकारी दी।आइसीएमआर ने ट्वीट कर बताया कि विज्ञानियों ने नए स्ट्रेन को कल्चर करने में कामयाबी हासिल की है। 

क्‍या होती है यह प्रक्रिया

कल्चर ऐसी वैज्ञानिक प्रक्रिया है, जिसमें प्रयोगशाला में नियंत्रित परिस्थितियों में कोशिकाओं को विकसित किया जाता है। आइसीएमआर ने कहा, 'ब्रिटेन से वापस आए लोगों से जुटाए गए नमूनों की मदद से नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी ने सफलतापूर्वक सभी बदलावों के साथ नए स्ट्रेन को आइसोलेट और कल्चर कर लिया है।' इसके लिए विज्ञानियों ने वेरो सेल लाइंस का इस्तेमाल किया। 

शोध में आसानी होगी

आइसीएमआर ने दावा किया कि अब तक किसी देश ने ऐसा करने में सफलता नहीं पाई है। वायरस के इस स्ट्रेन को सफलतापूर्वक आइसोलेट कर लेने से इससे जुड़े शोध में आसानी होगी। ब्रिटेन में दो हफ्ते पहले कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिला था। वायरस का यह स्वरूप पहले के मुकाबले 70 फीसद ज्यादा तेजी से फैलता है। भारत में भी वायरस के इस नए स्ट्रेन से करीब तीन दर्जन लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है। 

नई कोरोना स्ट्रेन से संक्रमित और मरीज मिली 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की मानें तो सार्स-कोवी-2 के इस नई स्‍ट्रेन से भारत में अब तक कुल 29 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। गुजरात में ब्रिटेन से लौटे चार लोगों को नए कोरोना स्ट्रेन से संक्रमित पाया गया है। राज्य के प्रमुख स्वास्थ्य सचिव जयंती रवि ने कहा कि इनके संपर्क में आए लोगों की पहचान कर उन्हें भी निगरानी में रखा गया है। कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के.सुधाकर ने बताया कि ब्रिटेन से आए एक व्यक्ति के संपर्क में रहने वाले व्यक्ति को भी कोरोना के नए स्वरूप से संक्रमित पाया गया है।

ब्रिटेन में बढ़े मामले 

वहीं ब्रिटेन में नई स्‍ट्रेन पाई जाने के बाद मरीजों की संख्‍या बढ़ी है। बीते चौबीस घंटों के दौरान ब्रिटेन में 53,285 लोगो की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके साथ ही ब्रिटेन में संक्रमितों का आंकड़ा 25,42,065 हो गया है। एक दिन में 613 लोगों की संक्रमण से मौत के साथ ब्रिटेन में मृतकों का आंकड़ा 74,125 हो गया है।