अरुणाचल के सांसद तापिर गाव का दावा, चीनी सेना पीएलए ने 17 साल के भारतीय किशोर को किया अगवा

अरुणाचल प्रदेश के सांसद तापिर गाव (Arunachal MP Tapir Gao) का एक दावा सामने आया है जिसमें उन्‍होंने कहा है कि चीनी सेना पीएलए ने अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सियांग जिले के एक 17 वर्षीय किशोर का अपहरण कर लिया है।

Krishna Bihari SinghPublish: Wed, 19 Jan 2022 11:16 PM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 08:07 AM (IST)
अरुणाचल के सांसद तापिर गाव का दावा, चीनी सेना पीएलए ने 17 साल के भारतीय किशोर को किया अगवा

इटानगर, पीटीआइ। अरुणाचल प्रदेश के सांसद तापिर गाव (Arunachal MP Tapir Gao) का एक दावा सामने आया है जिसमें उन्‍होंने कहा है कि चीनी सेना पीएलए ने अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सियांग जिले के एक 17 वर्षीय किशोर का अपहरण कर लिया है। तापिर गाव ने अपने ट्वीट में कहा है कि पीएलए की कैद से किसी तरह बचकर आए एक अन्‍य लड़के ने इस अपहरण की जानकारी अधिकारियों को दी। सांसद गाव ने आगे कहा है कि पीएलए द्वारा भारतीय किशोर के अपहरण के बारे में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री एन प्रमाणिक (MoS Home N Pramanik) को सूचित कर दिया गया है। साथ ही सरकारी एजेंसियों से भारतीय किशोरा की जल्द रिहाई सुनिश्चित करने की गुजारिश की गई है। 

समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सियांग जिले में भारतीय क्षेत्र के भीतर से 17 वर्षीय एक किशोर का अपहरण कर लिया। स्थानीय भाजपा सांसद तापिर गाव ने बुधवार को यह सनसनीखेज जानकारी दी। गाव ने कहा कि किशोर की पहचान मिराम टैरोन के रूप में की गई है। चीनी सैनिकों ने मंगलवार को सियुंगला क्षेत्र के लुंगटा जोर इलाके से उसे अगवा किया। गाव ने लोअर सुबनसिरी जिले के जिला मुख्यालय जाइरो से फोन पर बताया कि इस वारदात के समय भागने में सफल रहे टैरोन के दोस्त जानी यायिंग ने अधिकारियों को इस बारे में सूचित किया।

ये दोनों किशोर स्थानीय शिकारी हैं और जिदो गांव के रहने वाले हैं। सांसद ने कहा कि घटना उस जगह के पास हुई जहां से त्सांगपो नदी अरुणाचल प्रदेश में भारत की सीमा में प्रवेश करती है। त्सांगपो को अरुणाचल प्रदेश में सियांग और असम में ब्रह्मपुत्र कहा जाता है। इससे पहले, गाव ने ट्वीट किया था कि चीनी सेना ने जिदो गांव के मिराम टैरोन का 18 जनवरी को भारतीय क्षेत्र लुंगटा जोर से अपहरण कर लिया है। अरुणाचल प्रदेश के सियांग जिले के इस इलाके में चीन ने 2018 में कथित रूप से भारतीय सीमा में तीन से चार किमी की सड़क बना ली थी।

सांसद तापिर गाव ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि भारत सरकार की सभी एजेंसियों से किशोर की जल्द रिहाई के लिए कदम उठाने का अनुरोध किया गया है। गाव ने यह भी कहा कि उन्होंने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री निसिथ प्रामाणिक को घटना से अवगत कराकर उनसे आवश्यक कार्रवाई का अनुरोध किया गया है। सांसद तापिर गाव ने अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भारतीय सेना को टैग किया।

उल्लेखनीय है पीएलए ने सितंबर 2020 में अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबनसिरी जिले से पांच युवकों को अगवा कर लिया था। लगभग एक सप्ताह अपने पास रखने के बाद पीएलए ने उन्हें रिहा कर दिया था। अरुणाचल प्रदेश के सांसद तापिर गाव (Arunachal MP Tapir Gao) का उक्‍त ट्वीट ऐसे वक्‍त में सामने आया है जब चीन के साथ सीमा पर तनाव बरकरार है।

यही नहीं चीनी सेना के साथ 14वें दौर की कोर-कमांडर स्‍तर की बातचीत भी बेनतीजा साबित हुई है। हालांकि दोनों पक्षों की ओर से जारी किए गए साझा बयान में कहा गया है कि दोनों सेनाएं द्व‍िपक्षीय संवाद को बनाए रखेंगी। हाल ही में भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने कहा था कि भारत 14वें दौर की वार्ता में पूर्वी लद्दाख में पैट्रोलिंग प्वाइंट 15 (हॉट स्प्रिंग्स) पर विघटन से संबंधित मुद्दों को हल करने के लिए आशान्वित है।

Edited By Krishna Bihari Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम