एंटीलिया केस: महाराष्ट्र सरकार ने दिया मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के खिलाफ प्रारंभिक जांच का आदेश

प्रारंभिक जांच में यह पता लगाने की कोशिश की जाएगी कि क्या दक्षिण मुंबई में 25 फरवरी को मुकेश अंबानी के घर के बाहर एक गाड़ी से विस्फोटक मिलने के मामले में सिंह द्वारा राज्य सरकार को सौंपी गई जांच रिपोर्ट में किसी तरह की लापरवाही तो नहीं हुई।

Shashank PandeyPublish: Sun, 11 Apr 2021 08:19 AM (IST)Updated: Sun, 11 Apr 2021 08:46 AM (IST)
एंटीलिया केस: महाराष्ट्र सरकार ने दिया मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के खिलाफ प्रारंभिक जांच का आदेश

मुंबई, प्रेट्र। एंटीलिया मामले में  महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के खिलाफ प्रारंभिक जांच (पीई) का आदेश दिया है। इस जांच का मुख्य फोकस इस बात पर होगा कि उद्योगपति मुकेश अंबानी की सुरक्षा मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) द्वारा गिरफ्तार निलंबित सहायक पुलिस निरीक्षक (एपीआइ) सचिन वाझे जैसे अधिकारी उनके अधीन काम करते हुए भ्रष्ट कैसे हो गए।एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि अंबानी की सुरक्षा मामले में मुंबई पुलिस द्वारा राज्य के गृह विभाग में रिपोर्ट दाखिल करने के बाद एक अप्रैल को पीई के आदेश जारी किए गए थे।

पीई में इस बात का पता लगाने की भी कोशिश की जाएगी कि अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक लदी एसयूवी की बरामदगी की जांच रिपोर्ट दाखिल करने में सिंह की ओर से कोई लापरवाही तो नहीं बरती गई जबकि राज्य विधानसभा का सत्र चल रहा था। पीई में यह भी पता लगाया जाएगा कि वाझे को नियंत्रित करने में सिंह द्वारा कर्तव्य की उपेक्षा और आल इंडिया सर्विस (कंडक्ट) रूल्स का उल्लंघन तो नहीं किया गया। वरिष्ठ आइपीएस अधिकारी संजय पांडे को पीई का जिम्मा सौंपा गया है। उन्हें महाराष्ट्र के पुलिस महानिदेशक का अतिरिक्त कार्यभार भी सौंपा गया है।

महाराष्ट्र को वैक्सीन की 1.10 करोड़ डोज दी गई- जावडेकर

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने शनिवार को कहा कि महाराष्ट्र को अब तक कोरोना वैक्सीन की कुल 1.10 करोड़ डोज दी गई है। महाराष्ट्र के अलावा सिर्फ दो राज्यों-राजस्थान और गुजरात को ही वैक्सीन की एक करोड़ से ज्यादा डोज मिली हैं। जावडेकर ने यह बयान तब दिया है, जब महाराष्ट्र के कई मंत्रियों और नेताओं ने राज्य में वैक्सीन की कमी की बात कही है और केंद्र पर भेदभाव का आरोप लगाया है। वह महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजीत पवार के साथ समीक्षा बैठक में शामिल होने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी से सबसे बुरी तरह प्रभावित महाराष्ट्र को अगले तीन दिन के भीतर 1,100 और वेंटीलेटर मुहैया करा दिए जाएंगे। वैक्सीन की कमी को लेकर हो रही राजनीति पर जावडेकर ने यह कहते हुए टिप्पणी करने से इन्कार कर दिया कि यह राजनीति का समय नहीं है। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने आरोप लगाया था कि आबादी और कोरोना मरीजों की संख्या के मामले में महाराष्ट्र से छोटे राज्यों को ज्यादा वैक्सीन दी गई है।

Edited By Shashank Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept