दंतेवाड़ा: अरनपुर पोटाली सड़क काटने से मना करने पर नक्सलियों के दो संगठन में हुआ झगड़ा, दो की मौत

दंतेवाड़ा में नक्सलियों के दो संगठन में हुए झगड़े मे दो लोगों की मौत हो गई है। एसपी अभिषेक पल्लव ने इसकी जानकारी दी।

Pooja SinghPublish: Thu, 23 Jul 2020 03:19 PM (IST)Updated: Thu, 23 Jul 2020 03:19 PM (IST)
दंतेवाड़ा: अरनपुर पोटाली सड़क काटने से मना करने पर नक्सलियों के दो संगठन में हुआ झगड़ा, दो की मौत

छत्तीसगढ़, एएनआइ। दंतेवाडा के अरनपुर पुलिस थाना क्षेत्र में नक्सलियों द्वारा 2 लोगों को पीटने की खबर सामने आई थी। एसपी अभिषेक पल्लव ने इस घटना की जानकारी देते हुए बताया कि दरअसल, यह नक्सलियों के दो संगठनों में आंतरिक झगड़ा था। इस दौरान एक निचली रैंक के नक्सली की दूसरे नक्सली संगठन ने हत्या कर दी, जिसे अरनपुर पोटाली सड़क को काटने के लिए कहा था, लेकिन वह ऐसा करने के लिए राजी नहीं था। ऐसे में दोनों संगठनों में झगड़ा हो गया।   

इससे पहले कई बार नक्सली काट चुके हैं अरनपुर-पोटाली सड़क

बता दें कि इससे पहले भी नक्सलियों ने मिलकर जिले के अरनपुर-पोटाली सड़क को 4 जगहों से काट दिया था। इलाके में फोर्स की पैठ नक्सली नाखुश हैं। जिले में अब पुलिस अलर्ट हो गई है। सुरक्षाबलों के साथ पुलिस अब उन इलाकों तक पहुंच रही है जहां सालों तक नक्सलियों का राज रहा है। अब अनरपुर से पोटाली जाने वाली सड़क को काटने के लिए फिर नक्सली प्रयास कर रहे हैं। 

13 साल बाद शुरू हुआ था इस मार्ग का आवागमन

बता दें कि 13 साल बाद इस मार्ग पर आवागमन शुरू हुआ था। नक्सली लगातार अनरपुर से पोटाली जाने वाली सड़क को निशाना बना रहे हैं। दो बार पहले भी नक्सली पोटालाी के पटेलपार के पास सड़क को 8 से 10 जगहों काट चुके हैं। बता दें कि पोटाली में पुलिस कैंप खोले जाने के बाद अरनपुर से पोटालाी जाने वाली सड़क 13 साल बनी थी। आम लोगों को भी इस सड़क के बनने की सुविधा मिल रही थी। 

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, अरनपुर थाना क्षेत्र कई गांवों में वर्षों से विकास कार्य ठप रहा है। यह पर नक्सल दहशत बनी हुई है। यही वजह है कि स्कूल और आश्रर्म शाला को भी पालनार में शिफ्ट किया गया था। अब पोटाली गांव में पुलिस कैंप खुलने के बाद से विकास कार्य दोबारा शुरू हो गए हैं। यहां पर सबसे पहले जवानों की मदद से क्षतिग्रस्त पुल को ठीक किया गया। गांव में तीन हैंडपंप भी लगा दिए गए हैं। वहीं अब साप्ताहिक बाजार भी खुलने लगे हैं। राशन की दुकाने भी फोर्स की मदद से यहां पर खुल रही हैं। 

Edited By Pooja Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept