Delhi Schools Reopening: दिल्ली में फिलहाल बंद ही रहेंगे स्कूल, डीडीएमए की अगली मीटिंग में लिया जाएगा निर्णय

Delhi Schools Reopening इस संबंध में उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने बीते दिन यानी कि बुधवार 26 जनवरी को कहा था कि स्कूलों को खोलना के फैसला बच्चों के सामाजिक और भावनात्मक कल्याण को और अधिक नुकसान से बचाने के लिए है।

Nandini DubeyPublish: Thu, 27 Jan 2022 11:51 AM (IST)Updated: Thu, 27 Jan 2022 03:38 PM (IST)
Delhi Schools Reopening: दिल्ली में फिलहाल बंद ही रहेंगे स्कूल, डीडीएमए की अगली मीटिंग में लिया जाएगा निर्णय

नई दिल्ली, एजुकेशन डेस्क। Delhi Schools Reopening: दिल्ली में फिलहाल स्कूल बंद ही रहेंगे। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने आज यानी कि 27 जनवरी, 2022 की बैठक में इस विषय पर फिलहाल कोई फैसला नहीं हुआ है। ऐसे में अब संभावना है कि अगले सप्ताह शैक्षणिक संस्थानों को खोलने पर कोई निर्णय हो सके। ऐस में दिल्ली सरकार द्वारा अगली घोषणा होने तक दिल्ली के स्कूल बंद रहेंगे। समीक्षा बैठक में, दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, डीडीएमए ने हालांकि राजधानी में कुछ COVID-19 प्रतिबंधों में ढील देने का फैसला किया है, लेकिन दिल्ली के स्कूल को फिर से खोलने पर कोई फैसला नहीं हुआ है।

हालांकि इस संबंध में उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया (Deputy Chief Minister and Education Minister Manish Sisodia) ने बीते दिन यानी कि बुधवार 26 जनवरी को कहा था कि स्कूलों को खोलना के फैसला बच्चों के सामाजिक और भावनात्मक कल्याण को और अधिक नुकसान से बचाने के लिए है।

राज्य के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी इस संबंध में एक ट्वीट में कहा था कि, डॉ. लहरिया और अय्यरयामिनी के नेतृत्व में दिल्ली के बच्चों के माता-पिता का एक प्रतिनिधिमंडल मुझसे मिला। इन लोगों ने स्कूलों को फिर से खोलने के लिए 1600 से अधिक अभिभावकों द्वारा हस्ताक्षरित एक ज्ञापन मुझे सौंपा। हम इस पर निर्णय लेने वाले प्रमुख देशों में अंतिम क्यों हैं? वहीं शिक्षा मंत्री ने यह भी कहा है कि ऑनलाइन शिक्षा कभी भी ऑफ़लाइन शिक्षा की जगह नहीं ले सकती, शिक्षा मंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार ने स्कूलों को बंद कर दिया था, जब यह बच्चों के लिए सुरक्षित नहीं था, लेकिन अत्यधिक सावधानी अब छात्रों को नुकसान पहुंचा रही है।

उन्होंने कहा कि सरकार दिल्ली में स्कूलों को फिर से खोलने के लिए डीडीएमए की सिफारिश करेगी।  उपमुख्यमंत्री ने कहा, महामारी के चलते बंद स्कूल होने से न केवल उनकी पढ़ाई बल्कि उनके मानसिक स्वास्थ्य पर भी असर पड़ा है। COVID के दौरान, हमारी प्राथमिकता बच्चों की सुरक्षा थी। लेकिन चूंकि अब विभिन्न शोधों में पाया गया है कि COVID बच्चों के लिए इतना हानिकारक नहीं है, इसलिए स्कूलों को फिर से खोलना महत्वपूर्ण है, क्योंकि अब परीक्षा और संबंधित तैयारियों का समय है।

Edited By Nandini Dubey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept