Maharashtra: जानिए कौन हैं विवेक फणसालकर, जिनको बनाया गया मुंबई का नया पुलिस आयुक्त

Maharashtra विवेक फणसालकर महाराष्ट्र राज्य पुलिस आवासीय व कल्याण निगम के प्रबंध निदेशक थे। यह पद भी डीजीपी रैंक का है। फणसालकर ठाणे के पुलिस आयुक्त रहने के साथ ही एटीएस समेत कई विभागों में काम कर चुके हैं।

Sachin Kumar MishraPublish: Thu, 30 Jun 2022 06:44 PM (IST)Updated: Thu, 30 Jun 2022 06:44 PM (IST)
Maharashtra: जानिए कौन हैं विवेक फणसालकर, जिनको बनाया गया मुंबई का नया पुलिस आयुक्त

मुंबई, एएनआइ। महाराष्ट्र में वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी विवेक फणसालकर ने वीरवार को मुंबई के नए पुलिस आयुक्त के रूप में कार्यभार संभाल लिया है। मुंबई के पुलिस आयुक्त संजय पांडे को हटा दिया गया है। उनके स्थान पर 1989 बैच के आइपीएस अधिकारी विवेक फणसालकर को नया पुलिस आयुक्त बनाया गया है। वैसे भी संजय पांडे गुरुवार को रिटायर हो रहे हैं। फणसालकर की नियुक्ति बुधवार को की गई। फणसालकर महाराष्ट्र राज्य पुलिस आवासीय व कल्याण निगम के प्रबंध निदेशक थे। यह पद भी डीजीपी रैंक का है। फणसालकर ठाणे के पुलिस आयुक्त रहने के साथ ही एटीएस समेत कई विभागों में काम कर चुके हैं।

विद्रोही विधायकों को शिवसेना के शीर्ष नेताओं की तरफ से दी जा रही धमकियों और उनके घरों व दफ्तरों पर शिवसैनिकों के हमलों को देखते हुए मुंबई में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। केंद्र की तरफ से केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के दो हजार जवान मुंबई भेजे गए हैं। दक्षिण मुंबई में स्थित विधानभवन के आसपास सीआरपीसी की धारा 144 प्रभावी कर दी गई है और इस पर सख्ती से निर्देश दिए गए हैं। राज्य की विशेष पुलिस की सात सौ से ज्यादा कंपनियों को भी सुरक्षा व्यवस्था में तैनात किया गया है। गोवा एयरपोर्ट पर भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है। 

संजय पांडे ने हेमंत नागराले की जगह ली थी। हेमंत को पिछले साल परमबीर सिंह के पद से हटाए जाने के बाद मुंबई पुलिस प्रमुख बनाया गया था। नागराले को इसके प्रबंध निदेशक के रूप में महाराष्ट्र राज्य सुरक्षा निगम में स्थानांतरित कर दिया गया है। पांडे 1986 बैच के आइपीएस अधिकारी हैं। मार्च, 2021 में पांडे ने तबादले से नाराज होकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखा था। इसके बाद पांडे तबादले से नाराज हो कर छुट्टी पर चले गए थे। पांडे ने आइआइटी कानपुर से आइटी कंप्यूटर में इंजीनियरिंग की है। इन्होंने एसीपी पुणे के रूप में कार्य की शुरुआत की थी। इसके बाद पांडे मुंबई में डीसीपी रैंक के अधिकारी बने। साल 1993-93 के दंगों के दौरान पांडे डीसीपी थे। इसके बाद वह नारकोटिक्स, इकोनामिक्स आफिस विंग में भी रहे।

Edited By Sachin Kumar Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept