INS Ranvir Explosion: आइएनएस रणवीर में धमाके को लेकर कोलाबा पुलिस ने दर्ज किया मामला, जांच जारी

INS Ranvir Explosion आईएनएस रणवीर के अंदरूनी हिस्से में हुए विस्फोट के मामले में कोलाबा पुलिस स्टेशन ने आकस्मिक मृत्यु रिपोर्ट (एडीआर) दर्ज की गई है। इस मामले में जांच की जा रही है। आईएनएस रणवीर में हुए विस्फोट में तीन लोग मारे गए थे और 11 घायल हुए थे।

Babita KashyapPublish: Wed, 19 Jan 2022 10:32 AM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 10:49 AM (IST)
INS Ranvir Explosion: आइएनएस रणवीर में धमाके को लेकर कोलाबा पुलिस ने दर्ज किया मामला, जांच जारी

मुंबई, एएनआइ। मुंबई के नेवल डाक यार्ड (Naval Dockyard Mumbai) में मंगलवार की देर शाम एक युद्ध पोत आइएनएस रणवीर (INS Ranvir Explosion) के अंदरूनी हिस्से में हुए विस्फोट में तीन लोग मारे गए थे और 11 घायल हुए थे। मुंबई पुलिस (Mumbai Police) के अनुसार इस मामले में कोलाबा पुलिस स्टेशन (Colaba Police Station) ने आकस्मिक मृत्यु रिपोर्ट (एडीआर) दर्ज की है। मामले की जांच जारी है।

हालांकि इसमें हुए विस्फोट के कारणों के संबंध में अभी ज्‍यादा जानकारी नहीं मिल पायी है। घटना की जांच के लिए एक बोर्ड  आफ इंक्वायरी का गठन किया गया है। आइएनएस रणवीर मूल रूप से ईस्ट कोस्ट पर तैनात एक युद्धपोत है। यह नवंबर 2021 से मुंबई में था, और जल्द ही वापस आना था। मंगलवार की शाम इसके अंदरूनी भाग में अचानक विस्फोट हो गया। इसकी चपेट में आने से तीन नौसैनिक की मौत हो गई और 11 घायल हो गए।

रक्षा विभाग के प्रवक्ता के अनुसार, विस्फोट के तुरंत बाद जहाज पर सवार चालक दल के सदस्यों ने विस्फोट के कारण लगी आग को बुझा दिया, जिससे जहाज को और नुकसान होने से बचा लिया गया। नौसेना के सूत्रों ने बताया कि जहाज पर लगे हथियार और विस्फोटक भी इस विस्फोट से सुरक्षित हैं।

बता दें कि आइएनएस रणवीर रणवीर श्रेणी का पहला युद्धपोत है। इसे 21 अप्रैल 1986 को भारतीय नौसेना में शामिल किया गया था। जिसे 310 नाविकों का एक दल संचालित करता है। ये हथियारों और सेंसर से लैस है। इसमें सतह से सतह और सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल हैं। इसके अलावा इसमें मिसाइल रोधी बंदूके और पनडुब्बी रोधी राकेट लान्चर भी हैं। इसका निर्माण पूर्व के सोवियत संघ में किया गया था। वर्तमान नौसेना प्रमुख आर. हरिकुमार भी इस जहाज के प्रभारी रहे हैं। आज के विस्फोट में घायल हुए सभी नौसैनिकों को इलाज के लिए आइएनएस अश्विनी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

Edited By Babita Kashyap

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept