Madhya Pradesh: हिंदुओं की शिकायत के बाद मप्र के रतलाम के गांव सुराना में प्रशासन ने तोड़े अवैध निर्माण

Madhya Pradesh रतलाम जिले में स्थित सुराना गांव में हिंदुओं की ओर से मुस्लिम समुदाय द्वारा परेशान करने और इससे मजबूर होकर गांव से पलायन करने की शिकायत के बाद बुधवार को जिला प्रशासन में हड़कंप मचा रहा।

Sachin Kumar MishraPublish: Wed, 19 Jan 2022 05:47 PM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 08:13 PM (IST)
Madhya Pradesh: हिंदुओं की शिकायत के बाद मप्र के रतलाम के गांव सुराना में प्रशासन ने तोड़े अवैध निर्माण

रतलाम, जेएनएन। मध्य प्रदेश के रतलाम जिले में स्थित सुराना गांव में हिंदुओं की ओर से मुस्लिम समुदाय द्वारा परेशान करने और इससे मजबूर होकर गांव से पलायन करने की शिकायत के बाद बुधवार को जिला प्रशासन में हड़कंप रहा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रतलाम कलेक्टर पुरषोत्तम अग्रवाल और एसपी गौरव तिवारी से बात कर वस्तुस्थिति की जानकारी ली। कलेक्टर व एसपी सुबह 11:15 बजे ताबड़तोड़ गांव सुराना पहुंचे और चौपाल लगाकर करीब दो घंटे तक दोनों पक्षों से बातचीत की। कलेक्टर ने एक माह में मामले को सुलझाने का आश्वासन दिया, लेकिन हिंदू समुदाय के लोगों ने प्रशासन से स्पष्ट कहा कि तब तक तो हमारी हत्या हो जाएगी। इसके बाद शाम करीब पांच बजे प्रशासन के अमले ने गांव में अतिक्रमण कर बनाए गए मकानों की नपती की और उन्हें तोड़ दिया।

चौपाल पर छलका दर्द, रोने लगे बुजुर्ग

सुबह गांव में लगी चौपाल में प्रशासन के सामने हिंदुओं का दर्द छलक पड़ा। एसपी गौरव तिवारी पर हिंदू परिवार खासे नाराज हुए। गांव के पूर्व पटेल 55 वर्षीय ओमप्रकाश जाट ने कहा कि हम मुस्लिम समुदाय की ओर से दी जाने वाली प्रताड़ना के छोटे-छोटे मामलों को नजरअंदाज करते रहे, लेकिन अब रहना मुश्किल हो गया है। वे पीड़ा बताते-बताते रो दिए। जब कहीं सुनवाई नहीं हुई, तो परिवार की रक्षा के लिए गांव छोड़कर पलायन करने का निर्णय लेना पड़ा। पिछले दो साल में जब भी पुलिस को अवगत कराया तो कार्रवाई के नाम पर हिंदू वर्ग को ही निशाना बनाया गया।

जानें, किसने-क्या कहा

हिंदुओं ने कहाः मुस्लिम समुदाय द्वारा पुराने मंदिर पर यज्ञ, हवन आयोजन के दौरान विघ्न डाला जाता था, इसलिए गांव के दूसरे हिस्से में नया मंदिर बनाना पड़ा। सरकारी जमीन पर कब्जा, अवैध रूप से पेड़ों की कटाई, नदी से रेत का अवैध खनन करते हैं। कुछ बोलो तो विवाद करते हैं। पुलिस को साल भर पहले शिकायत की गई थी, लेकिन कार्रवाई नहीं की गई।

मुस्लिमों ने कहा: अय्यूब शाह, उस्मान अली, यूसुफ खान, शहजाद अली ने कहा कि हम गांव में शांति चाहते हैं। गलत करने वालों पर प्रशासन समान रूप से कार्रवाई करे।

सुरक्षा व समाधान के लिए यह इंतजाम

कलेक्टर ने दोनों वर्गों के दो-दो लोगों की एक कमेटी गठित की है, जो समाधान के लिए काम करेगी। इसमें एसडीएम व एसडीओपी भी शामिल हैं। पुलिस अधीक्षक ने हालात सामान्य होने तक गांव में अस्थायी पुलिस चौकी स्थापित की है। चौकी पर एक एसआइ, एक एएसआइ व दस पुलिस जवान राउंड द क्लाक तैनात रहेंगे।

हटेंगे अवैध निर्माण

रतलाम के कलेक्टर कुमार पुरषोत्तम ने कहा कि जो गुंडे हैं, वो अपने को कितना भी मजबूत बताएं, लेकिन कार्रवाई होगी। गांव में जो भी अवैध निर्माण हैं, वे सब हटाए जाएंगे। सुरक्षा के नाम पर कोई भी पलायन करता है तो यह प्रशासन व पुलिस की विफलता मानी जाएगी। किसी को पलायन नहीं करने दिया जाएगा।

एफआइआर दर्ज

रतलाम के एसपी ने कहा कि  सालभर में गांव में जितने भी विवाद हुए, उनमें पुलिस ने तात्कालिक तौर पर एफआइआर की। जांच में दोषियों पर कार्रवाई हुई है।

Koo App

#Ratlam के सुराणा गाँव में हिंदुओं के पलायन का मामला संज्ञान में आया है जोकि चिंता का विषय है। पीड़ितों की सुरक्षा के लिए जिला प्रशासन से बात करूंगा। #MadhyaPradesh शांति का टापू है और कोई भी भय का वातावरण नहीं फैला सकता है।

View attached media content

- Dr.Narottam Mishra (@drnarottammisra) 19 Jan 2022

Edited By Sachin Kumar Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept