MP Covid19 Update: मध्य प्रदेश में कोरोना के 6970 नए मामले मिले

MP Covid19 Update मध्य प्रदेश में कोरोना के 6970 नए मरीज मिले हैं। 77346 सैंपल की जांच में 6970 नए मरीज मिले हैं। सर्वाधिक 1890 नए मरीज इंदौर में मिले हैं। प्रदेश की संक्रमण दर करीब नौ प्रतिशत रही। प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ गई।

Sachin Kumar MishraPublish: Mon, 17 Jan 2022 04:31 PM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 04:31 PM (IST)
MP Covid19 Update: मध्य प्रदेश में कोरोना के 6970 नए मामले मिले

भोपाल, जेएनएन। मध्य प्रदेश में सोमवार को कोरोना के 6970 नए मरीज मिले हैं। 77346 सैंपल की जांच में 6970 नए मरीज मिले हैं। सर्वाधिक 1890 नए मरीज इंदौर में मिले हैं। प्रदेश की संक्रमण दर करीब नौ प्रतिशत रही। प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ गई। इससे पहले 5315 नए मरीज मिले। 82,703 सैंपल की जांच में 6380 नए मरीज मिले हैं। जांचे गए सैंपलों में 7.7 प्रतिशत पाजिटिव आए हैं। प्रदेश में 28 दिसंबर को 30 मरीज मिले। इसके बाद से मरीजों की संख्या और संक्रमण दर लगातार बढ़ते हुए इस स्तर पर पहुंची है। प्रदेश में 30,109 सक्रिय मरीजों में से 588 यानी दो प्रतिशत से कम ही अस्पतालों में भर्ती हैं। हफ्ते भर पहले यह आंकड़ा चार प्रतिशत तक रहा।

जानें, कहां-कितने मामले

हमीदिया अस्पताल के छाती व श्वास रोग विभाग के सह प्राध्यापक डा. पराग शर्मा ने बताया कि तीसरी लहर की शुरुआत में लोगों में डर ज्यादा था, इसलिए वे अस्पतालों में भर्ती हो रहे थे। अब डर कम होने से घर पर रहना ही पसंद कर रहे हैं। प्रदेश में मिले नए कोरोना मरीजों में इंदौर में 1852 और भोपाल के 1175 हैं। यानी कुल मरीजों में 47 प्रतिशत इन्हीं दोनों शहरों में हैं। ग्वालियर में 756 और जबलपुर में 442 मरीज मिले हैं। सबसे ज्यादा 8940 सक्रिय मरीज भी इंदौर में हैं। इसके बाद 5623 मरीज भोपाल, 3553 ग्वालियर और 2137 सक्रिय मरीज जबलपुर में हैं। कुल मरीजों में 98 प्रतिशत होम आइसोलेशन में हैं। निजी व सरकारी अस्पतालों में भर्ती मरीजों में से 166 भोपाल में और 177 इंदौर में हैं।

गौरतलब है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने रविवार को कहा कि कोरोना महामारी जिस तरह से विकसित हो रही है उससे पता चलता है कि यह वायरस कभी भी पूरी तरह से खत्म नहीं होगा। समाचार एजेंसी तास ने सोलोविएव लाइव यूट्यूब चैनल पर रूस में डब्ल्यूएचओ की प्रतिनिधि मेलिता वुजनोविक के हवाले से बताया कि यह वायरस एक स्थानिक बीमारी के रूप में आबादी में संचारित होता रहेगा। उन्होंने कहा कोरोना वायरस एक स्थानिक बीमारी बनने की राह पर है। इसका अर्थ है कि यह कभी खत्म नहीं होगा। हमें यह सीखना होगा कि इसका इलाज कैसे किया जाए और इससे खुद की रक्षा कैसे की जाए।

Edited By Sachin Kumar Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम