ब्रिटेन भेजी जाएगी भारत में बनी कोरोना वैक्सीन, सीरम इंस्टीट्यूट देगा कोविशील्ड की 1 करोड़ डोज

ब्रिटेन भेजी जाएगी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की वैक्सीन। फोटो: दैनिक जागरण)

भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण जारी है। इस बीच ब्रिटेन की सरकार की ओर से बताया गया है कि भारत में बनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया(Serum Institute of India) की कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड(Covishield) की एक करोड़ डोज ब्रिटेन जाएगी।

Shashank PandeyWed, 03 Mar 2021 08:15 AM (IST)

लंदन, रायटर/ एएनआइ। भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण जारी है। इस बीच ब्रिटेन सरकार ने बताया है कि भारत में बनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) द्वारा निर्मित कोरोना वैक्सीन 'कोविशील्ड'(Covishield) की एक करोड़ खुराक ब्रिटेन भेजी जाएगी। समाचार एजेंसी रायटर्स ने ब्रिटेन की सरकार के हवाले से ये जानकारी दी है।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता कंपनी है जो दर्जनों गरीब और मध्यम आय वाले देशों के लिए ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ विकसित एस्ट्राजेनेका वैक्सीन का उत्पादन कर रही है। समाचार एजेंसी रायटर्स ने फरवरी में बताया कि ब्रिटेन की मेडिसिन और हेल्थकेयर उत्पाद नियामक एजेंसी (एमएचआरए) सीरम में विनिर्माण प्रक्रियाओं का परीक्षण कर रही थी ताकि एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को ब्रिटेन से वहां भेजने का मार्ग प्रशस्त हो सके।

इस कदम से ये साबित हो रहा है कि अमीर पश्चिमी देश, गरीब देशों की कीमत पर वैक्सीन की खुराक खरीद रहे हैं। बांग्लादेश से लेकर ब्राज़ील तक के निम्न और मध्यम आय वाले देशों का एक समूह SII के AstraZeneca वैक्सीन, ब्रांडेड COVISHIELD पर निर्भर है, लेकिन पश्चिमी देशों से इसकी मांग बढ़ रही है।

यह विश्व स्वास्थ्य संगठन और GAVI वैक्सीन गठबंधन द्वारा समर्थित COVAX कार्यक्रम के लिए खुराक भी प्रदान कर रहा है। ब्रिटेन सरकार ने कहा कि समझौता SII के आश्वासन का पालन करता है कि यूके को खुराक प्रदान करना गरीब देशों को टीके प्रदान करने की उसकी प्रतिबद्धता को प्रभावित नहीं करेगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.