टीके पर उठ रहे सवाल के बीच ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन ने लगवाई एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन

वैक्सीन लगवाते ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन। (फोटो: एएनआइ)

जिस ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन (CoronaVaccine) पर पूरी दुनिया में सवाल उठ रहे हैं ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ने वही टीका लगवाकर लोगों का भ्रम दूर करने का प्रयास किया है। उन्होंने आज पहली डोज ली।

Shashank PandeySat, 20 Mar 2021 09:01 AM (IST)

लंदन, एएनआइ। ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन पर उठ रहे सवालों के बीच  ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन(Boris Johnson) ने आज एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवा ली है। यूरोपीय और ब्रिटिश ड्रग कंट्रोलर संस्थाओं ने साफ किया है कि टीका लेने से खून का थक्का (Blood Clots) जमने का कोई साक्ष्य नहीं मिला है।इसके बावजूद लोगों में वैक्सीन को लेकर खौफ और चिंता बरकरार है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने टीका लगवाकर लोगों का भ्रम दूर करने का प्रयास किया है। उन्होंने खुद ट्वीट (Tweet) करके इसकी जानकारी दी।

पीएम जॉनसन ने ट्वीट में लिखा- मैंने अभी-अभी ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की पहली खुराक ली है। अविश्वसनीय वैज्ञानिकों, एनएचएस कर्मचारियों और वॉलंटियर्स सहित उन सभी को धन्यवाद जिन्होंने ऐसा करने में मदद की। जिस लाइफ को हम मिस करते हैं उसे अपने जीवन में वापस पाने के लिए वैक्सीन लेना ही सबसे अच्छी चीज है। चलिए टीका लगवाया जाए।

कोरोना वैक्सीन पर उठे सवालों के बाद यूरोपीय और ब्रिटिश ड्रग कंट्रोलर संस्थाओं ने सभी उपलब्ध आकंड़ों का गहन वैज्ञानिक विश्लेषण किया और इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि एस्ट्राजेनेका टीका लेने से खून का थक्का (Blood Clots) जमने का कोई साक्ष्य नहीं मिला। इसके बावजूद लोगों में वैक्सीन को लेकर खौफ और चिंता बरकरार है, लोगों की इसी चिंता को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना वैक्सीन लगवाई है. साथ ही उन्होंने लोगों से वैक्सीनेशन का हिस्सा बनने की अपील भी की है।

यह वैक्सीन ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित की गई है। इसका भारत में उत्पादन एस्ट्राजेनेका और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया मिलकर कर रहे हैं। वहीं, ब्रिटेन की स्वास्थ्य उत्पाद नियामक एजेंसी MHRA ने सलाह दी है कि यह टीका लेने के बाद जिन लोगों को लगातार चार दिन तक सिर में दर्द की शिकायत हो उन्हें डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन  टीके को लेकर व्याप्त संशय को दूर करने के लिए ही वैक्सीनेशन करवाया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.