top menutop menutop menu

महात्मा गांधी के पहने हुए सोने की परत वाले चश्मे की ब्रिटेन में होगी नीलामी, एक परिवार को किया था भेंट

लंदन, पीटीआइ। ब्रिटेन में होने वाली नीलामी में सोने की परत वाले एक जोड़ी चश्मे की बोली लगाई जाएगी। माना जा रहा है कि उन्हें महात्मा गांधी ने पहना था और बाद में 1900 के दशक में एक परिवार को बतौर तोहफा दे दिया था। चश्मे की बोली 10-15 हजार पाउंड (करीब 9.77-14.66 लाख रुपये) तक पहुंचने की संभावना है।

दक्षिण-पश्चिमी इंग्लैंड के उपनगर हनहम स्थित कंपनी ईस्ट ब्रिस्टल ऑक्शंस ने रविवार को बताया, 'हम यह जानकर बेहद आश्चर्यचकित थे कि जो चश्मे उनकी डाकपेटी में एक लिफाफे में रखकर डाले गए थे, उनके पीछे ऐसा शानदार इतिहास हो सकता है।'

नीलामीकर्ता कंपनी एंडी स्टोव ने कहा, 'चश्मे का ऐतिहासिक महत्व है। विक्रेता ने इसे दिलचस्प तो माना, लेकिन इसकी कीमत नहीं बताई। यहां तक कि विक्रेता ने कहा कि अगर ये कीमती नहीं हैं तो इन्हें नष्ट कर दें लेकिन जब हमने उन्हें इसकी कीमत बतायी तो वह अचंभे में पड़ गए। यह नीलामी से संबंधित एक शानदार कहानी है।'

नीलामीकर्ता ने बताया कि ये चश्मे इंग्लैंड के एक अज्ञात बुजुर्ग विक्रेता के परिवार के पास थे। विक्रेता को पिता ने बताया था कि ये चश्मे उनके चाचा को महात्मा गांधी ने उस वक्त तोहफे के तौर पर दिए थे, जब वह वर्ष 1910-30 के बीच दक्षिण अफ्रीका में ब्रिटिश पेट्रोलियम में काम करते थे।

इंग्लैंड के इस अज्ञात बुजुर्ग विक्रेता के परिवार के पास ये चश्मे थे। विक्रेता के पिता ने बताया था कि ये चश्मे उनके चाचा को महात्मा गांधी ने उस वक्त तोहफे के तौर पर दिए थे जब वह 1910 से 1930 के बीच दक्षिण अफ्रीका में ब्रिटिश पेट्रोलियम में काम करते थे।

'महात्मा गांधी के निजी चश्मे का जोड़ा' शीर्षक से इस नीलामी का आयोजन 21 अगस्त को होगा। हालांकि, इस ऑनलाइन नीलामी ने पहले ही लोगों को खासा आकर्षित किया है। भारतीय इसमें विशेष रुचि दिखा रहे हैं। इन चश्मे की पहले ही 6,000 पाउंड की ऑनलाइन बोली लगाई जा चुकी है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.