मेहुल चोकसी के वकील ने कहा, डोमिनिका की अदालती प्रक्रिया में भारतीय हस्तक्षेप दुर्भाग्यपूर्ण

चोकसी के वकील ने कहा कि हम एंटीगुआ पुलिस से रिपोर्ट मांग रहे हैं। लेकिन अब तक रिपोर्ट नहीं मिल पाई। मैंने भारतीय मीडिया में लीक हुई एक रिपोर्ट के बारे में सुना है। उसके मुताबिक चोकसी को अगवा कर डोमिनिका ले जाने की बात का समर्थन करती है।

Dhyanendra Singh ChauhanTue, 15 Jun 2021 10:07 PM (IST)
चोकसी के वकील ने कहा, उनके मुवक्किल को वकीलों से मिलने नहीं दिया गया

लंदन, एएनआइ। मेहुल चोकसी से संबंधित मामले में डोमिनिका की अदालती प्रक्रिया में भारतीय अधिकारियों की दखलंदाजी पर असंतोष व्यक्त करते हुए यूके के वकील माइकल पोलाक ने दावा किया कि कैरेबियाई देश में बिना किसी कानूनी प्रक्रिया के भगोड़े हीरा कारोबारी को भारत वापस लाने की योजना थी। एक साक्षात्कार में, पोलाक ने कहा कि चोकसी के खिलाफ बहुत प्रचार किया गया है और उसे कई दिनों तक वकीलों से मिलने तक नहीं दिया गया।

वकील ने कहा कि परिस्थितियां दर्शाती हैं कि भारत सरकार चोकसी को वापस ले जाना चाहती है। चोकसी को भारत प्रत्यर्पित करने के लिए एंटीगुआ में कार्यवाही चल रही है जो अगले पांच-छह साल तक चल सकती है।

उन्होंने कहा कि हम एंटीगुआ पुलिस से रिपोर्ट मांग रहे हैं। लेकिन अब तक रिपोर्ट नहीं मिल पाई। मैंने भारतीय मीडिया में लीक हुई एक रिपोर्ट के बारे में सुना है। उसके मुताबिक चोकसी को अगवा कर डोमिनिका ले जाने की बात का समर्थन करती है।

उल्लेखनीय है चोकसी 23 मई को डिनर के लिए बाहर जाने के बाद एंटीगुआ से लापता हो गया था। उसे कुछ दिन बाद डोमिनिका में पकड़ा गया। प्रत्यर्पण से बचने के संभावित प्रयास में एंटीगुआ और बारबुडा से कथित रूप से भागने के बाद डोमिनिका में पुलिस ने उस पर अवैध प्रवेश का आरोप लगाया था। इस मामले की सुनवाई के लिए मेहुल चोकसी 14 जून को अदालत में पेश होने में विफल रहा। अब इस मामले की सुनवाई 25 जून को होगी।

62 वर्षीय भगोड़ा चोकसी 2018 में पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में 13,500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में भारत में वांछित है।

ला फर्म ने चोकसी के समर्थन में जारी किए वीडियो और फोटो

इस बीच लंदन स्थित ला फर्म जस्टिस एब्राड ने चोकसी को कथित रूप से एंडीगुआ एंड बारबुडा से अगवा किए जाने का दावा करते हुए कुछ वीडियो और फोटो सार्वजनिक किए हैं। इस ला फर्म की ओर से वकील माइकल पोलाक ने कहा कि चोकसी को अगवा करने के लिए उसकी महिला मित्र का सहारा भी लिया गया। उसे एक व्हीलचेयर में बांधकर नाव के जरिये डोमिनिका ले जाया गया। पोलाक ने कहा कि चोकसी को अगवा करने के पीछे एक ही उद्देश्य था कि कानूनी प्रक्रियाओं का पालन किए बिना उसे जल्द से जल्द भारत ले जाया जाए।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.