दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

विदेश मंत्री ने माना- चरमराई भारत की स्वास्थ्य व्यवस्था, बोले- देश में चुनाव रोकना नामुमकिन

जी-7 सम्मेलन के लिए लंदन पहुंचा भारतीय प्रतिनिधिमंडल

ब्रिटेन स्थित मीडिया संगठन इंडिया इंक ग्रुप और लंदन में भारतीय उच्चायोग की वैश्विक संवाद श्रंख्ला के एक कार्यक्रम में जयशंकर ने कोविड-19 की दूसरी लहर को बहुत बड़ी चुनौती बताया है। उन्होंने दुनिया के देशों से भारत को मिल रही सहायता की प्रशंसा भी की।

Neel RajputWed, 05 May 2021 07:18 PM (IST)

लंदन, एएनआइ। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दुनिया के सामने कबूल किया है कि भारत की स्वास्थ्य व्यवस्था कोरोना वायरस की दूसरी लहर से चरमरा गई है। बता दें कि विदेश मंत्री इन दिनों जी-7 सम्मेलन के लिए लंदन में हैं। यहां एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने ये बातें कहीं। चुनावी रैलियों को कोरोना संक्रमण के लिए जिम्मेदार बताने के सवाल पर जयशंकर ने कहा कि हम बेहद लोकतांत्रिक और राजनीतिक देश में हैं और एक लोकतंत्र में यह मुमकिन नहीं है कि चुनाव ना हों।

ब्रिटेन स्थित मीडिया संगठन इंडिया इंक ग्रुप और लंदन में भारतीय उच्चायोग की वैश्विक संवाद श्रंख्ला के एक कार्यक्रम में जयशंकर ने कोविड-19 की दूसरी लहर को बहुत बड़ी चुनौती बताया है। उन्होंने दुनिया के देशों से भारत को मिल रही सहायता की प्रशंसा भी की। उन्होंने कहा कि भारत को संकट के इस समय में एहसास है कि पूरी दुनिया हमारे साथ है।

इस दौरान विदेश मंत्री ने दूसरे देशों से मिल रही सहायता के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि भारत को ब्रिटेन, अमेरिका, खाड़ी देशों समेत दूसरे देश बेहद जरूरी चिकित्सीय आपूर्तियों के लिए मदद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह वैश्विक महामारी न सिर्फ महत्वपूर्ण बदलाव लेकर आई है बल्कि यह विचारों में बदलाव लेकर आई है। आज मैं कूटनीति में एकजुटता देख रहा हूं।

गौरतलब है कि पिछले दिनों भारत में चार राज्यों पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और एक केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव हुए थे। इसके नतीजे दो मई को घोषित किए गए हैं। वहीं, देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर के कारण संक्रमण के मामलों में भी तेजी आई है। यहां हर दिन तीन लाख से ज्यादा नए मामले दर्ज किए जा रहे हैं। इसके मद्देनजर केंद्र सरकार हर अहम कदम उठा रही है ताकि स्थिति पर काबू पाया जा सके, जिसके लिए कई देश भी मदद को आगे आए हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.