Covid 19 Travel Update: कोरोना संक्रमण के कारण भारतीय छात्र अब 27 सितंबर तक ब्रिटेन जा सकेंगे

ब्रिटिश पोस्ट स्टडी वर्क (पीएसडब्ल्यू) वीजा धारकों के ब्रिटेन में प्रवेश की तारीख बढ़ गई है। इससे भारतीय छात्रों को बड़ा फायदा होने की उम्मीद है। ब्रिटिश विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाले विदेशी छात्रों में भारतीयों की संख्या सबसे ज्यादा होती है।

Arun Kumar SinghWed, 16 Jun 2021 09:50 PM (IST)
ब्रिटिश विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाले विदेशी छात्रों में भारतीयों की संख्या सबसे ज्यादा होती है।

लंदन, प्रेट्र। ब्रिटिश पोस्ट स्टडी वर्क (पीएसडब्ल्यू) वीजा धारकों के ब्रिटेन में प्रवेश की तारीख बढ़ गई है। इससे भारतीय छात्रों को बड़ा फायदा होने की उम्मीद है। ब्रिटिश विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाले विदेशी छात्रों में भारतीयों की संख्या सबसे ज्यादा होती है। ग्रेजुएट रूट वीजा, जिसे पीएसडब्ल्यू वीजा के रूप में भी जानते हैं। यह छात्रों को पढ़ाई के साथ ब्रिटेन में कार्य करने की अनुमति भी देता है। छात्रों को ब्रिटेन में कार्य करने की यह सुविधा उनकी पढ़ाई पूरी हो जाने के दो वर्ष बाद तक मिलती है।

पहले ब्रिटेन यात्रा पर 23 अप्रैल से रोक लगी हुई थी

इस वीजा को ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल ने 2020 में लांच किया था। चालू वर्ष के लिए इस वीजा के आधार पर ब्रिटेन में प्रवेश की अंतिम तिथि 21 जून थी लेकिन कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लगी बंदिशों के मद्देनजर अब यह अंतिम तिथि बढ़ाकर 27 सितंबर कर दी गई है।

ब्रिटेन के संगठन द नेशनल इंडियन स्टूडेंट्स एंड अल्यूमनी यूनियन यूके (एनआइएसएयू) ने अभियान चलाकर प्रवेश की अंतिम तिथि बढ़ाने का अनुरोध किया था, क्योंकि भारत में कोरोना संक्रमण के चलते वहां के लोगों की ब्रिटेन यात्रा पर 23 अप्रैल से रोक लगी हुई थी। बाद में जब इसमें थोड़ी ढील दी गई तब स्टूडेंट वीजा पर आने वाले छात्रों के लिए दस दिनों के लिए होटल में क्वारंटाइन रहने का नियम बना दिया गया।

बड़ी संख्या में भारतीय छात्रों को राहत मिलेगी

इससे प्रत्येक भारतीय छात्र पर 1,750 पाउंड (करीब 1.70 लाख रुपये) का अतिरिक्त बोझ पड़ने लगा। इसी के बाद भारतीय छात्रों के प्रवेश की तिथि 21 जून से आगे किए जाने की मांग उठी थी। एनआइएसएयू की प्रमुख सनम अरोरा ने गृह विभाग के फैसले पर खुशी जाहिर की है।

कहा कि इससे बहुत बड़ी संख्या में उन भारतीय छात्रों को राहत मिलेगी जो कोरोना संक्रमण के चलते यात्रा शुरू नहीं कर पा रहे थे। उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन ने पिछले वर्ष की तुलना में चालू वर्ष के लिए भारतीय छात्रों के लिए वीजा की संख्या में 13 प्रतिशत का बड़ा इजाफा किया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.