ब्रिटेन ने वैक्सीन ले चुके लोगों के लिए यात्रा नियमों में छूट दी

भारत को छोड़ 17 अन्य देशों के टीका ले चुके यात्रियों को ब्रिटेन जाने से पहले पीसीआर टेस्ट करवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इन देशों में जापान सिंगापुर और मलेशिया शामिल हैं। दरअसल इन देशों की वैक्सीन को ब्रिटेन मान्यता दे चुका है।

Monika MinalSat, 18 Sep 2021 03:59 AM (IST)
ब्रिटेन ने वैक्सीन ले चुके लोगों के लिए यात्रा नियमों में छूट दी

लंदन, प्रेट्र।  ब्रिटेन सरकार ने शुक्रवार को बाहर से आने वाले उन यात्रियों के लिए अंतरराष्ट्रीय यात्रा नियमों में छूट का एलान किया, जो कोरोना की वैक्सीन ले चुके हैं। भारत-ब्रिटेन रूट पर यात्रा करने वाले यात्रियों को इससे लाभ होगा। चार अक्टूबर से कोरोना जोखिम के स्तर के आधार पर रेड, एंबर और ग्रीन ट्रैफिक लाइट प्रणाली को समाप्त कर दिया जाएगा और इसे केवल एक रेड लिस्ट से बदल दिया जाएगा।

भारत फिलहाल ब्रिटेन के एंबर लिस्ट में है। इसके अलावा भारत की वैक्सीन को ब्रिटेन में मान्यता नहीं मिली है। इसलिए भारतीयों को ब्रिटेन की यात्रा करने के लिए पीसीआर टेस्ट करवाना पड़ेगा। हालांकि, 17 अन्य देशों, जिनकी वैक्सीन को ब्रिटेन मान्यता दे चुका है, के टीका ले चुके यात्रियों को ब्रिटेन जाने से पहले पीसीआर टेस्ट करवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इन देशों में जापान, सिंगापुर और मलेशिया शामिल हैं। ब्रिटेन में शुक्रवार को कोरोना संक्रमण के 32,651 नए मामलों की पहचान की गई।

कनाडा पर से  यात्रा प्रतिबंधों को हटाने की मांग

चार अमेरिकी सांयउसें राष्ट्रपति बाइडन पर कनाडा पर लगे यात्रा प्रतिबंध को हटाने की मांग कर रहे हैं। चार अमेरिकी सांसदों ने जो बाइडन से अपील की है कि मार्च 2020 से कनाडा यात्रा पर लगी रोक को हटा दें।

इन सांसदों ने कहा है कि कोरोना वैक्सीन की खुराक ले चुके लोगों को अक्टूबर से पहले यात्रा करने की अनुमति दी जाए।

ब्रिटेन में 12 से 15 साल के बच्चों  को दी जाएगी कोरोना वैक्सीन 

अब ब्रिटेन में 12 से 15 साल के बच्चों को भी कोरोना वैक्सीन लगाने का फैसला लिया जा चुका है। देश के चिकित्सा अधिकारियों ने कहा कि सरकार ने स्कूलों में संक्रमण के प्रसार और शिक्षा पर प्रभाव पर विचार करने की उनकी सिफारिश के बाद यह फैसला लिया है। इस अहम फैसले के बाद स्वस्थ बच्चों को फाइजर/बायोएनटेक वैक्सीन की एक खुराक दी जाएगी और जितनी जल्दी संभव होगा वैक्सीनेशन शुरू किया जाएगा। इस फैसले के बाद लगभग 30 लाख बच्चों को वैक्सीन की खुराक दी जाएगी।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.