मौलाना साद रिजवी की गिरफ्तारी के विरोध में पाकिस्तान में हिंसा, तीन की मौत और दस घायल

इस्लामी पार्टी तहरीक-ए-लबैक पाकिस्तान के प्रमुख मौलाना साद रिजवी की फाइल फोटो

मौलाना साद रिजवी के समर्थकों के साथ रात भर पुलिसकर्मियों का टकराव हुआ। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी गुलाम मुहम्मद डोगर ने बताया कि लाहौर के समीप शहादरा कस्बे में हुए टकराव में 10 पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं ।

Dhyanendra Singh ChauhanTue, 13 Apr 2021 06:52 PM (IST)

लाहौर, एपी। पाकिस्तान में कट्टरपंथियों और पुलिस के बीच हुए हिंसक टकराव में दो प्रदर्शनकारी और एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई। लाहौर में इस्लामी पार्टी तहरीक-ए-लबैक पाकिस्तान के प्रमुख मौलाना साद रिजवी की सोमवार को हुई गिरफ्तारी के विरोध में प्रदर्शन हुए हैं। रिजवी के समर्थकों के साथ रात भर पुलिसकर्मियों का टकराव हुआ। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी गुलाम मुहम्मद डोगर ने बताया कि लाहौर के समीप शहादरा कस्बे में हुए टकराव में 10 पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं।

पाकिस्तानी पंजाब प्रांत में दो कट्टरपंथी मारे गए हैं। रिजवी की गिरफ्तारी के बाद सोमवार को ही हिंसा शुरू हो गई थी। इस्लामी पार्टी के प्रमुख को सरकार को धमकी देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। रिजवी ने हजरत मुहम्मद की तस्वीर प्रकाशित कर उनका अपमान करने के लिए फ्रांस के राजदूत को देश से बाहर नहीं निकालने पर सरकार विरोधी प्रदर्शन की धमकी दी थी। हालांकि सरकार ने कहा कि उसने केवल संसद में मुद्दे पर चर्चा कराने की प्रतिबद्धता जाहिर की है।

कई शहरों में प्रदर्शनकारियों ने हाईवे और सड़क किया जाम 

डोगर के मुताबिक, कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए रिजवी की गिरफ्तारी की गई है। रिजवी को हिरासत में लेने के तुरंत बाद ही देशभर के शहरों में हिंसक प्रदर्शन शुरू हो गए। कई शहरों में प्रदर्शनकारियों ने हाईवे और सड़क जाम कर दिया। प्रदर्शनकारी फ्रांस के सामान के बहिष्कार और राजदूत को देश से निकालने की मांग कर रहे हैं।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.