पाकिस्तान: पोलियो वैक्सीनेशन टीम पर आतंकी हमला, एक जवान की मौत

पाकिस्तान में पोलियो वैक्सीन कैंपेन में बाधक हें आतंकी

Polio Vaccination in Pakistan पोलियो बीमारी दुनिया में जड़ से खत्म हो गई है लेकिन इसकी जकड़न अब भी पाकिस्तान और अफगानिस्तान में मौजूद है क्योंकि यहां के आतंकी इसे पश्चिमी देशों की कार्रवाई बताते हैं। यहां हमेशा से ही पोलियो वैक्सीनेशन ड्राइव में आतंकी रुकावट डालते हैं।

Publish Date:Tue, 12 Jan 2021 04:22 PM (IST) Author: Monika Minal

पेशावर, प्रेट्र। उत्तर पश्चिम पाकिस्तान में मेंगलवार को आतंकियों ने पोलियो वैक्सीनेशन टीम को निशाना बनाया। इस हमले में एक पुलिस जवान की मौत हो गई। अज्ञात हमलावरों ने खैबर पख्तूनख्वाह (Khyber Pakthunkhwa) प्रांत के करक जिला स्थित लातंबार एरिया में फायरिंग शुरू कर दी।  पोलियो वैक्सीनेशन टीम की सुरक्षा के लिए तैनात पुलिसकर्मी को गोली लगी और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इस हमले की जिम्मेदारी अभी किसी समूह ने नहीं ली है। पाकिस्तान (Pakistan) और इसका पड़ोसी अफगानिस्तान (Afghanistan) दुनिया भर में बचे दो ऐसे देश हैं जहां पोलियो की बीमारी अभी भी है। 

पाकिस्तान में तालिबानी आतंकीी पोलियो अभियान में लगे स्वास्थ्यकर्मियों के समूह पर हमला करते रहते हैं। उनकी ओर से यही भी अफवाह फैलाई जाती है कि यह अभियान लोगों को बांझ बनाने या नसबंदी करने के लिए किए जा रहे हैं।

पहले भी इलाके में टीकाकरण के प्रयासों को आतंकियों ने बाधित किया है। इनका आरोप है कि टीकाकरण अभियान पश्चिमी जासूसों की कारस्तानी है। स्थानीय अधिकारियों ने कहा कि हर बार पोलियो अभियान में आतंकियों की ओर से रुकावट पैदा करने के बाद  मुस्लिम मौलाना को बच्चों में टीकाकरण को आगे बढ़ाने के लिए नियुक्त किया था। 

हाल के कुछ सालों से पोलियोरोधी अभियान पर हमले बढ़ गए हैं। बता दें कि फर्जी हेपेटाइटिस वैक्सीनेशन प्रोग्राम का पता चला था जो 2011 में अमेरिकी कमांडो द्वारा मारे गए अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन ( al-Qaeda leader Osama bin Laden) की खोज में CIA ने किया था। पाकिस्तान में सोमवार से पांच दिनों का पोलियो टीकाकरण अभियान शुरू हुआ है। इसके तहत 40 मिलियन बच्चों को पोलियो वैक्सीन लगाई जाएगी।  पिछले साल भी जनवरी के अंत में पाकिस्तान में पोलियो वैक्सीन देने वालों की गोली मारकर हत्या कर दी गई। उस वक्त Efe न्यूज ने जानकारी दी थी कि महिलाओं पर बाइक सवार बंदूकधारियों उस समय हमला किया गया जब वे अपनी वैक्सीन किट (टीका-संबंधी किट) जमा करने के लिए अस्पताल जा रही थीं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.