सऊदी प्रिंस के स्वागत में पाकिस्तान ने बिछाए पलक पांवड़े, 19 फरवरी को भारत आएंगे

स्लामाबाद, प्रेट्र/आइएएनएस। कंगाली की हालत में पहुंच चुके पाकिस्तान ने रविवार को सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के स्वागत में पलक पांवड़े बिछा दिए। पाकिस्तान को इसका फल भी मिला और प्रिंस सलमान ने उसके 20 अरब डॉलर के समझौते किए। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में पाकिस्तान प्रायोजित आतंकी हमले के बाद प्रिंस सलमान ने अपनी यात्रा एक दिन टाल दी, पहले उन्हें तीन दिन की यात्रा पर शनिवार को ही पाकिस्तान पहुंचता था। पाकिस्तान से प्रिंस सलमान दो दिन की यात्रा पर मंगलवार को भारत पहुंचेंगे।

दोनों देशों के बीच लगभग डेढ़ लाख करोड़ रुपये के समझौते पर हस्ताक्षर

पाकिस्तान के चार फाइटर जेट के सुरक्षा घेरे में प्रिंस सलमान का बोइंग 787 रावलपिंडी के एयरबेस पर पहुंचा तो उनकी आगवानी के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान खुद मौजूद थे। इमरान ने प्रोटोकाल तोड़कर सलमान को अपने साथ प्रधानमंत्री आवास भी लेकर गए। प्रिंस सलमान वहीं रहेंगे। प्रिंस सलमान की सुरक्षा में करीब 123 सऊदी अरब रॉयल गार्ड के साथ ही डेढ़ हजार से ज्यादा पाकिस्तानी फोर्स को तैनात किया गया है। पाकिस्तान सरकार ने लगभग 300 लैंड क्रूजर गाडि़यों को सऊदी डेलीगेशन के लिए लगाया है।

वहीं, रायटर ने सऊदी अरब के सरकारी अरबिया टीवी के हवाले से बताया है कि प्रिंस सलमान ने पाकिस्तान के साथ 20 अरब डॉलर (लगभग 1.5 लाख करोड़ रुपये)से अधिक के निवेश समझौतों पर हस्ताक्षर किए। सऊदी अरब ने हाल के महीनों में पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए लगभग 6 अरब डॉलर का लोन देकर उसके घटते विदेशी मुद्रा भंडार को संभाला था।

एक दिन देर से आए सलमान

पुलवामा में आत्मघाती आतंकी हमले में 40 जवानों की शहादत के बाद प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान पाकिस्तान के दौरे पर हैं। भारत ने इस हमले का जिम्मेदार पाकिस्तान को ठहराया है और पाकिस्तान को सबक सिखाने का भी निर्णय लिया है। हालांकि प्रिंस सलमान ने खुद को इससे अलग रखा है। लेकिन हमले के बाद उन्होंने अपनी यात्रा एक दिन टाल दी थी। कहा जा रहा था कि हमले से नाराज होकर ही उन्होंने ऐसा किया था। सऊदी अरब ने हमले की निंदा भी की थी। साथ ही भारत के साथ आतंक के खिलाफ लड़ाई की बात कही थी।

मंगलवार को भारत आएंगे प्रिंस

पाकिस्तान के दो दिवसीय दौरे के बाद प्रिंस सलमान मंगलवार को भारत आएंगे। वह पहली बार भारत का दौरा करेंगे। सऊदी अरब भारत का प्रमुख ऊर्जा सुरक्षा साझेदार है। माना जा रहा है उनके भारत दौरे के दौरान दोनों देशों के बीच आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई, ऊर्जा सुरक्षा और निवेश पर चर्चा हो सकती है।

सऊदी अरब के राजदूत सौद मोहम्मद अल सती ने रविवार को कहा कि प्रिंस सलमान की यात्रा से दोनों दोनों के बीच विभिन्न क्षेत्रों में आपसी सहयोग को मजबूत करने का ऐतिहासिक अवसर मिलेगा। अपनी दो दिवसीय यात्रा के दौरान प्रिंस सलमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू से भी मुलाकात करेंगे।

सऊदी-फ्रांस के बीच रक्षा करार

इस बीच, अबू धाबी में सऊदी अरब के सरकारी हथियार निर्माता कंपनी सऊदी अरबियन मिलिट्री इंडस्ट्रीज (सामी) और फ्रांस सरकार की स्वामित्व वाले नवल ग्रुप के बीच संयुक्त उद्यम लगाने को लेकर समझौते पर हस्ताक्षर हुआ। इससे सऊदी अरब की नौसेना की ताकत में इजाफा होगा। यह समझौता ऐसे समय में हुआ है, जबकि यमन में सऊदी अरब की भूमिका को देखते हुए उसे हथियार बेचने पर रोक लगाने की मांग की जा रही है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.