कठिन परिस्थितियों से गुजर रहे पाकिस्तान के लोग, विपक्षी दल ने इमरान सरकार को ठहराया जिम्मेदार

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान में बढ़ती महंगाई पर वासम ने कहा कि देश चलाना इमरान खान का व्यवसाय नहीं है। चीनी संकट पीटीआई सरकार द्वारा बनाया गया था। इमरान खान ने हमेशा सिंध को हर चीज के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

Dhyanendra Singh ChauhanPublish:Sun, 28 Nov 2021 05:12 PM (IST) Updated:Sun, 28 Nov 2021 05:21 PM (IST)
कठिन परिस्थितियों से गुजर रहे पाकिस्तान के लोग, विपक्षी दल ने इमरान सरकार को ठहराया जिम्मेदार
कठिन परिस्थितियों से गुजर रहे पाकिस्तान के लोग, विपक्षी दल ने इमरान सरकार को ठहराया जिम्मेदार

इस्लामाबाद, एएनआइ। इमरान सरकार के चलते पाकिस्तान की जनता कठिन परिस्थितियों से गुजर रही है। पाकिस्तान के विपक्षी दल- पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) ने इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार को यह कहते हुए फटकार लगाई कि यह एक 'अक्षम सरकार' है। इस सरकार ने लोगों के जीवन को मुश्किल बना दिया है।

सिंध विधानसभा समिति कक्ष में शनिवार को पाकिस्तान पिपुल्स पार्टी के प्रांतीय मंत्रियों और सलाहकारों ने एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया। इस दौरान मंजूर हुसैन वासन, इम्तियाज शेख और मुकेश चावला समेत पीपीपी नेताओं ने कहा कि समय आ गया है कि सरकार अब लोगों की जान बख्श दे।

एक पाकिस्तानी अखबार के अनुसार कृषि सलाहकार मंजूर वासन ने भविष्यवाणी की थी कि साल 2022 प्रधानमंत्री इमरान खान के लिए खतरनाक होगा। वहीं, अब एक बार फिर वासन ने कहा, 'अक्टूबर में इमरान खान इस्तीफा दे सकते हैं। नए साल की जनवरी से उनकी चिंताएं और बढ़ जाएंगी।'

इमरान खान ने हमेशा सिंध को हर चीज के लिए ठहराया जिम्मेदार

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान में बढ़ती महंगाई पर वासम ने कहा कि देश चलाना इमरान खान का व्यवसाय नहीं है। देश में चीनी संकट पाकिस्तान तहरीक-ए- इंसाफ (पीटीआइ) सरकार द्वारा बनाया गया है। इमरान खान ने हमेशा सिंध को हर चीज के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

इमरान सरकार द्वारा सिंध को गैस और पेट्रोल से किया जा रहा वंचित 

इस बीच प्रांतीय ऊर्जा मंत्री इम्तियाज अहमद शेख ने कहा कि सिंध में गैस एक अहम मुद्दा है। ऊर्जा मंत्री ने दावा किया कि संघीय सरकार ने भी जानबूझकर देश में गैस की कमी पैदा की है। ओजीआरए में सिंध का कोई प्रतिनिधि नहीं है। वे सिंध को पीछे धकेलने की कोशिश कर रहे हैं। शेख ने कहा कि यह अफसोस की बात है कि गैस और पेट्रोल उत्पादक प्रांत होने के बावजूद सिंध को गैस और पेट्रोल से वंचित किया जा रहा है ।