top menutop menutop menu

अब मानवाधिकार के बहाने पाकिस्‍तान ने अलापा जम्‍मू कश्मीर का राग, कोई देश सुनने को तैयार नहीं

इस्लामाबाद, एजेंसियां। बलूचिस्तान और गुलाम कश्मीर में लोगों पर बर्बरता करने वाले पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में कथित मानवाधिकार उल्लंघन का राग अलापा है। पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में इसको लेकर एक निंदा प्रस्ताव पास किया गया है। पाकिस्तान ने इस प्रस्ताव के जरिए यह भी स्पष्ट कर दिया है कि वह भारत के आंतरिक मामलों में दखल देना बंद नहीं करेगा और जम्मू-कश्मीर के लोगों को समर्थन देता रहेगा। प्रधानमंत्री इमरान खान ने कश्मीर के लोगों के समर्थन में ट्वीट भी किया है। 

विश्‍व के ज्‍यादातर देशों में कोई पाकिस्‍तान की सुनने को तैयार नहीं 

भारत ने बार-बार पाकिस्तान से कहा है कि जम्मू-कश्मीर उसका अभिन्न अंग है और वो इसके मामले में दखल देना बंद करे। लेकिन पाकिस्तान सुधरने वाला नहीं है। उसने एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से कश्मीर मसले के समाधान के लिए गुहार लगाई है। भारत ने जब जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म किया था, तब भी पाकिस्तान ने विलाप किया था। उसने अंतरराष्ट्रीय समुदाय के आगे खूब रोना भी रोया था, लेकिन एक-दो को छोड़कर किसी भी देश ने उसका साथ नहीं दिया था।

इमरान के ऑफिस ने जनता से बोला सफेद झूठ, कहा- हमारी विदेश नीति सफल 

उधर, पाकिस्‍तान के पीएम इमरान खान के ऑफिस ने अपनी जनता से सफेद झूठ बालते हुए एक बयान में कहा कि भारत हमें वैश्विक स्‍तर पर अलग-थलग करने की कोशिश कर रहा था लेकिन वह कामयाब नहीं हो पाया। हमारी विदेश नीति की सफलता के कारण अमेरिका समेत खाड़ी देशों से पाकिस्तान के रिश्ते मजबूत हुए हैं। 

इतना ही नहीं, इमरान खान के ऑफिस ने झूठ बोलने की हदें पार करते हुए कहा कि विदेश नीति की सफलता के कारण ही पाकिस्‍तान के पीएम विश्‍व के सबसे प्रसिद्ध नेताओं में शुमार हैं। जबकि हालात यह है कि अमेरिका पहुंचने पर उनके अगवानी के लिए कोई नेता नहीं पहुंचा था। उन्हें होटल तक का सफर भी मेट्रो में सवार होकर करना पड़ा था। 

चीन और तुर्की के अलावा कोई भी देश खड़ा नहीं

पाक पीएमओ ने कहा कि आज पाकिस्तान के रिश्ते हर देश के साथ पहले से ज्यादा मजबूत हैं। हकीकत यह है कि वैश्विक स्तर पर पाकिस्तान के साथ चीन और तुर्की के अलावा कोई भी देश खड़ा नहीं है। सत्ता परिवर्तन के बाद मलेशिया ने भी पाकिस्तान से कन्‍नी काट ली।  

पाकिस्तान के यूएई के रिश्तों को बताया आदर्श 

पाकि‍स्‍तान पीएमओ ने कहा कि पाकिस्तान और संयुक्‍त अरब अमीरात के संबंध आदर्श स्थिति में है। दोनों नेताओं ने कई मौकों पर एक दूसरे की तारीफ की है, जबकि हकीकत यह है कि कुछ दिन पहले ही यूएई ने 150 से ज्यादा पाकिस्तानी नागरिकों को वापस भेज दिया था। इतना ही नहीं, उसने पाकिस्तानी सरकारी एयरलाइंस पीआईए की उड़ान पर भी रोक लगा रखी है। 

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.