इमरान ने फिर बढ़ाया दोस्ती का हाथ, कहा- वार्ता के जरिये भारत के साथ सभी मुद्दे सुलझाने को तैयार

पाकिस्तानी पीएम ने भारत के साथ संघर्ष विराम समझौते का स्वागत किया।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक बार फिर दोस्ती का हाथ बढ़ाते हुए भारत के साथ संघर्ष विराम समझौते का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान भारत के साथ सभी लंबित मुद्दों को वार्ता के जरिये सुलझाने के लिए तैयार है।

Bhupendra SinghSat, 27 Feb 2021 07:30 PM (IST)

इस्लामाबाद, प्रेट्र। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक बार फिर दोस्ती का हाथ बढ़ाते हुए शनिवार को भारत के साथ संघर्ष विराम समझौते का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान भारत के साथ सभी लंबित मुद्दों को वार्ता के जरिये सुलझाने के लिए तैयार है।

पाक पीएम इमरान ने कहा- एलओसी पर अनुकूल माहौल बनाने की जिम्मेदारी भारत पर है

नियंत्रण रेखा (एलओसी) और अन्य सेक्टरों में संघर्ष विराम के सभी समझौतों के सख्ती से अनुपालन पर पाकिस्तान और भारत की सेनाओं के गुरुवार को दिए संयुक्त बयान पर पहली बार प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, 'नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम बहाली का मैं स्वागत करता हूं। आगे की प्रगति के लिए अनुकूल माहौल बनाने की जिम्मेदारी भारत पर है। भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) के प्रस्तावों के मुताबिक कश्मीरी लोगों की आत्मनिर्णय की काफी समय से लंबित मांग और अधिकार को पूरा करने के लिए जरूरी कदम उठाने चाहिए।'

इमरान बोले- मैं हमेशा शांति का पक्षधर हूं, सभी लंबित मुद्दों का वार्ता के जरिये समाधान के लिए तैयार

श्रृंखलाबद्ध ट्वीट कर उन्होंने आगे कहा, 'हम हमेशा शांति के पक्षधर रहे हैं और सभी लंबित मुद्दों का वार्ता के जरिये समाधान करने के लिए आगे बढ़ने को तैयार हैं।' हालांकि कश्मीर मसले पर भारत पाकिस्तान को बता चुका है कि भारत के अंदरूनी मामलों पर टिप्पणी करने का उसे कोई अधिकार नहीं है। भारत ने जोर देकर कहा है कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख देश के अभिन्न हिस्से रहे हैं और हमेशा रहेंगे।

इमरान ने कहा- भारतीय पायलट को लौटाकर पाक ने जिम्मेदारीपूर्ण आचरण को प्रदर्शित किया

2019 में भारतीय वायुसेना द्वारा बालाकोट में जैश-ए-मुहम्मद के प्रशिक्षण शिविरों को निशाना बनाए जाने के बाद पाकिस्तान की ओर से की गई जवाबी कार्रवाई की वर्षगांठ पर ट्वीट करते हुए इमरान ने कहा कि बंदी बनाए गए भारतीय पायलट को लौटाकर पाकिस्तान दुनिया के समक्ष अपने जिम्मेदारीपूर्ण आचरण को भी प्रदर्शित कर चुका है।

भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी, 2019 को बालाकोट में जैश के प्रशिक्षण शिविरों को निशाना बनाया था

बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले में 40 सीआरपीएफ जवानों की शहादत के बाद भारतीय वायुसेना के युद्धक विमानों ने 26 फरवरी, 2019 को बालाकोट में जैश के प्रशिक्षण शिविरों को निशाना बनाया था।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.