मुंबई हमले के मास्‍टर माइंड के घर के सामने हुआ विस्‍फोट, जाने वारदात के समय कहां था हाफिज सईद ?

लश्करे तैयबा से संबंधित आंतकी हाफिज सईद संयुक्त राष्ट्र नामित वैश्विक आतंकवादी है उस पर अमेरिका ने एक करोड़ रुपये का इनाम रखा था। पाकिस्तान ने एफएटीएफ की कार्रवाई के डर से हाफिज सईद को आतंकी फंडिंग के पांच मामलों में 36 साल कैद की सजा सुनाई गई है।

Ramesh MishraWed, 23 Jun 2021 05:37 PM (IST)
ग्रे लिस्ट से निकलने के लिए लश्करे तैयबा पर की गई थी फर्जी कार्रवाई । फाइल फोटो।

इस्‍लामाबाद/लाहौर, एजेंसी। मुबंई हमले के मास्टर माइंड आतंकी और प्रतिबंधित संगठन जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफिज सईद के घर के बाहर एक शक्तिशाली कार बम विस्फोट में तीन लोगों की मौत हो गई। विस्फोट के बाद तेजी से यह जानकारी फैली कि आंतकी हाफिज सईद विस्फोट के समय घर में ही था। हालांकि, बाद में पुलिस ने कहा कि सईद आतंकी फडिंग के मामले में लाहौर की कोट लखपत जेल में बंद है। ज्ञात हो कि 2008 में हुए मुंबई हमले का मास्टर माइंड हाफिज सईद पाक सरकार के संरक्षण में ही रहता है। उसके घर के बाहर इसीलिए पुलिस पिकेट का 24 घंटे पहरा रहता है।

अमेरिका ने एक करोड़ रुपये का इनाम रखा था

लश्करे तैयबा से संबंधित आंतकी हाफिज सईद संयुक्त राष्ट्र नामित वैश्विक आतंकवादी है, उस पर अमेरिका ने एक करोड़ रुपये का इनाम रखा था। पाकिस्तान ने फाइनेंशियल एक्शन टाक्स फोर्स (एफएटीएफ) की कार्रवाई के डर से हाफिज सईद को आतंकी फंडिंग के पांच मामलों में 36 साल कैद की सजा सुनाई गई है। सरकारी संरक्षण के कारण वह जेल में रहने के बावजूद बाहर आकर भी अपनी गतिविधियों को अंजाम देता रहता है।

शक्तिशाली कार बम विस्फोट में तीन लोगों की मौत

बता दें कि मुबंई हमले के मास्टर माइंड आतंकी और प्रतिबंधित संगठन जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफिज सईद के घर के बाहर एक शक्तिशाली कार बम विस्फोट में तीन लोगों की मौत हो गई। घटना में बीस से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। घायल होने वालों में हाफिज सईद के घर के बाहर सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मी भी हैं। घटना लाहौर के बीओआर सोसाइटी, जौहर टाउन में हुई। पाकिस्तान के डान अखबार के अनुसार विस्फोट इतना जबर्दस्त था कि आसपास के घरों और वहां खड़े वाहनों को नुकसान होने के साथ ही हाफिज सईद के घर की खिड़कियां और दीवार भी उड़ गई।

घटना की जांच आंतक निरोधी विभाग (सीटीडी) ने संभाली

पंजाब पुलिस के प्रमुख इनाम गनी ने बताया कि यदि हाफिज सईद के घर के बाहर पुलिस पिकेट नहीं होती तो बड़ा नुकसान हो सकता था। इसे उन्होंने आतंकी कार्रवाई बताया है। उन्होंने कहा कि इस विस्फोट में शत्रुओं की खुफिया एजेंसी भी शामिल हो सकती है। घायलों को जिन्ना अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से छह लोगों की हालत गंभीर है। पुलिस के अनुसार घटना की जांच आंतक निरोधी विभाग (सीटीडी) ने संभाल ली है, जो सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है। रायटर के अनुसार एक प्रत्यक्षदर्शी फहीम अहमद ने बताया कि घर के पास खड़ी एक कार में यह विस्फोट हुआ, इससे वहां आसपास खड़ी कार और मोटर साइकिलों में आग लग गई।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.