कनाडा के पूर्व मंत्री ने पाकिस्तान पर अफगानिस्तान में प्रॉक्सी वॉर में शामिल होने का आरोप लगाया

कनाडा के पूर्व मंत्री और अफगानिस्तान में राजदूत रह चुके क्रिस अलेक्जेंडर ने पाकिस्तान पर हमला बोला है। मंत्री ने पाक पर अफगानिस्तान में प्रॉक्सी वॉर में शामिल होने का आरोप लगाया है। अलेक्‍जेंडर ने पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को बेशर्म और झूठा करार दिया है।

Pooja SinghMon, 02 Aug 2021 01:57 PM (IST)
कनाडा के पूर्व मंत्री ने पाकिस्तान पर अफगानिस्तान में 'पॉक्सी वॉर' में शामिल होने का आरोप लगाया

काबुल, एएनआइ। कनाडा के पूर्व मंत्री और अफगानिस्तान में राजदूत रह चुके क्रिस अलेक्जेंडर ने पाकिस्तान पर हमला बोला है। मंत्री ने पाक पर अफगानिस्तान में 'प्रॉक्सी वॉर' में शामिल होने का आरोप लगाया है। अलेक्‍जेंडर ने पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को 'बेशर्म और झूठा' करार दिया है। यही नहीं क्रिस ने दुनिया से अपील करते हुए कहा कि तालिबान को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान पर प्रतिबंध लगाना चाहिए। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, क्रिस ने तालिबान आतंकियों के पाकिस्‍तान सीमा पर इंतजार करने की तस्‍वीर पोस्‍ट करते हुए कहा कि अगर कोई मानता है कि पाकिस्‍तान- अफगानिस्‍तान के खिलाफ आक्रामक कार्रवाई में शामिल नहीं है तो वह भी इस 'प्रॉक्सी वॉर' में सह-अपराधी है।

प्रधानमंत्री इमरान खान दशकों तक तालिबान को बढ़ावा देने में रहे हैं शामिल

क्रिस ने कहा कि पाक प्रधानमंत्री इमरान खान पूरी तरह से धोखेबाज है। जिनके अंदर कोई क्षमता नहीं है। जो दशकों तक तालिबान को बढ़ावा देने में शामिल रहे हैं। वहीं कनाडा के पूर्व मंत्री के इस बयान पर पाकिस्‍तान सरकार भड़क गई है।

पाकिस्तान ने क्रिस के बयान पर जताई आपत्ति

पाकिस्‍तान ने क्रिस के बयान की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि मंत्री के अफगान शांति वार्ता को लेकर बनी समझ के साथ धोखा है। उनका बयान जमीनी हकीकत से मेल नहीं खाता है। बता दें कि पाकिस्‍तान के इस बयान पर क्रिस ने भी पलटवार किया। उन्‍होंने कहा कि पीएम इमरान खान और पाकिस्‍तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के नाजायज, निराधार और भ्रामक दावे उन सभी के साथ बेइमानी है जिन्‍होंने अफगान शांति और स्थिरता पर काम करने को कहा था।

बता दें कि पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री और मंत्रियों पर कई अफगान नेता तालिबान की खुलकर मदद करने का आरोप लगा चुके हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कई पाकिस्‍तानी सैनिक और आतंकी अफगानिस्‍तान में जंग लड़ते हुए देखे गए हैं। अफगानिस्‍तान के राष्‍ट्रपति अशरफ गनी ने भी इमरान खान के सामने ही पाकिस्‍तान की पोल खोलकर रख दी थी।

गौरतरलब है कि पिछले दिनों पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि अफगानिस्तान की बिगड़ती स्थिति के लिए उनके देश के खिलाफ बार-बार आरोप लगाना बेमतलब है। प्रधानमंत्री ने कहा था कि इस्लामाबाद हमेशा शांति और अपने पड़ोसी के लिए एक समावेशी सरकार की स्थापना चाहता है, क्योंकि यह दोनों देशों के लिए हितकर है।

इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा था कि पाकिस्तान तालिबान का प्रवक्ता नहीं है और ना की इस संगठन से उनका कोई लेना-देना है। बता दें कि इस बीच अफगानिस्‍तान के उप राष्‍ट्रपति अमरुल्‍ला सालेह ने रविवार को कहा था कि तालिबान को पाकिस्‍तान से पूरी मदद मिल रही है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.