COVID-19: संक्रमण के तीसरी लहर के चपेट में पाकिस्तान, बीते 24 घंटों में 135 मौतें दर्ज

कोरोना वायरस संक्रमण के तीसरे लहर के चपेट में पाकिस्तान

Coronavirus in Pakistan पाकिस्तान कोरोना वायरस संक्रमण के तीसरी लहर से जूझ रहा है। यहां बीते 24 घंटों में 135 लोगों की मौत दर्ज की गई है। देश में अब तक संक्रमण के कुल मामलों का 734423 हो गया।

Monika MinalWed, 14 Apr 2021 11:34 AM (IST)

 इस्लामाबाद, प्रेट्र। कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर के चपेट में पाकिस्तान में बीते 24 घंटों के दौरान 135 गई है। यह आंकड़ा फरवरी के अंत में यहां शुरू हुए संक्रमण के तीसरे लहर की शुरुआत के बाद सबसे अधिक है। बुधवार को जारी आधिकारिक आंकड़ें के अनुसार, इससे पहले मंगलवार को सबसे अधिक मौतें 118 दर्ज हुई थी। पिछले साल जून में 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण से 153 लोगों की मौत हो गई।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि देश में संक्रमण का तीसरा लहर ब्रिटेन से आए कोरोना वायरस स्ट्रेन के कारण है जो पहले की तुलना में अधिक संक्रामक और खतरनाक है। अब तक देश में कोविड-19 के कारण कुल  15,754 मौतें हो चुकी हैं। वहीं 4,216 संक्रमित की हालत गंभीर है। यह जानकारी देश के स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दी गई है। बीते 24 घंटों में यहां  4,681 नए मामले सामने आए जिसके बाद अब तक देश में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 734,423 हो गया।

मंत्रालय ने बताया कि अब तक देश में 641,912 लोग संक्रमण से स्वस्थ हुए हैं और बीते 24 घंटों में 3,645 संक्रमित स्वस्थ हुए हैं। देश में अभी 75,758 सक्रिय मामले हैं। वहीं पाकिस्तान में अब तक 10,878,086 कोविड टेस्ट हुए हैं जिसमें 48,092 कोविड टेस्ट बीते 24 घंटों में हुए।  देश में संक्रमण दर 9.73 फीसद है। 

देश के योजना मंत्री असद उमर ने बताया,'हर दिन 60-70 हजार वैक्सीन लगाए जा रहे हैं और ईद के बाद इसे बढ़ाने के लिए हमें प्रयास करना होगा।' बता  दें कि उमर नेशनल कमांड एंड ऑपरेशन सेंटर  (NCOC) के प्रमुख हैं जो महामारी  से निपटने के लिए काम कर रही है। 

उमर ने आगे बताया कि देश में अभी 0.9 मिलियन वैक्सीन उपलब्ध है और यदि कमिटमेंट के आधार पर लोग वैक्सीन लेना चाहेंगे तो ईद के बाद सभी पाकिस्तानियों को खुराक दी जाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि कैबिनेट से वैक्सीन के लिए 150 मिलियन डॉलर का बजट मंजूर किया गया है। उमर ने आगे बताया कि लोग कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं रहे हैं। 

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.