पाकिस्तान के सैन्य शस्त्रागार को बढ़ाने के लिए चीन पहुंचा रहा मदद, हथियारों के लाइसेंस दिए

चार्ली गाओ राष्ट्रीय हित में अपने विश्लेषक में लिखते हैं चीन ने पाकिस्तान को निम्नलिखित पांच हथियारों के लाइसेंस दिए हैं a) परमाणु हथियार कार्यक्रम b) JF-17 फाइटर A-100 c) मल्टीपल राकेट लॉन्चर d) VT-1A और e) HQ-16

Nitin AroraWed, 01 Dec 2021 09:15 AM (IST)
पाकिस्तान के सैन्य शस्त्रागार को बढ़ाने के लिए चीन पहुंचा रहा मदद, हथियारों के लाइसेंस दिए

इस्लामाबाद, एएनआइ। जैसा कि पाकिस्तान को अमेरिका से हथियार प्राप्त करने के लिए और अधिक प्रतिबंधों का सामना करना पड़ रहा है, ऐसे में चीन ने इस्लामाबाद के पारंपरिक और परमाणु शस्त्रागार को बढ़ावा देने के लिए हथियारों की सप्पाई की है। वैसे तो चीन ने लंबे समय से पाकिस्तान के सशस्त्र बलों को आपूर्ति की है, लेकिन हाल के वर्षों में संबंध और गहरे हुए हैं, पाकिस्तान ने राष्ट्रीय हित के अनुसार, शीर्ष चीनी निर्यात उपकरणों की बड़ी खरीद हुई है।

चार्ली गाओ राष्ट्रीय हित में अपने विश्लेषक में लिखते हैं, 'चीन ने पाकिस्तान को निम्नलिखित पांच हथियारों के लाइसेंस दिए हैं a) परमाणु हथियार कार्यक्रम, b) JF-17 फाइटर A-100 c) मल्टीपल राकेट लॉन्चर, d) VT-1A और e) HQ-16

चीन से सैन्य अधिग्रहण पर पाकिस्तान ने जिन प्रमुख पहलुओं पर ध्यान केंद्रित किया है, उनमें से एक अपने जमीनी बलों के लिए आवश्यक वायु रक्षा हासिल करना है। पाकिस्तानी सेना ने जमीन पर अपने गठन की रक्षा प्रदान करने के लिए मुख्य रूप से अपनी वायु सेना पर भरोसा किया है।

इसके अलावा, राष्ट्रीय हित के अनुसार, पाकिस्तान लंबी दूरी की चीनी HQ-9 प्रणाली, रूसी एस-300 लंबी दूरी की एसएएम के एक चीनी एनालाग को खरीदने के लिए भी बातचीत कर रहा है। इससे पहले, पाकिस्तान के परमाणु हथियारों को चीन द्वारा 1980 के दशक की शुरुआत से भारत के खिलाफ आवश्यक सैन्य निवारक विकसित करने के लिए बढ़ावा दिया गया था, जो चीन-पाकिस्तान गठजोड़ का मुख्य आकर्षण है।

चीन ने पाकिस्तानी परमाणु हथियार कार्यक्रम को महत्वपूर्ण सहायता प्रदान की और आरोप है कि उसने, भारत की बड़ी शक्ति महत्वाकांक्षाओं का मुकाबला करने के लिए मिसाइल घटक, वारहेड डिजाइन और यहां तक कि अत्यधिक समृद्ध यूरेनियम प्रदान किया है। यह आरोप लगाया जाता है कि चीन परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह के मानदंडों को दरकिनार करते हुए पाकिस्तान के परमाणु हथियार विकसित करने में आगे रहा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.