ओमीक्रोन को लेकर WHO ने जारी की प्रतिक्रिया, स्वास्थ्य कर्मियों, गंभीर बीमारियों से ग्रस्त और वृद्ध लोगों को पहले लगाई जाए वैक्सीन

दुनियाभर में कोरोना वायरस के नए ओमीक्रोन वैरिएंट से हड़कंप मचा हुआ है. इसी बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO के चीफ डॉ टेड्रोस अदनोम घेब्रेयियस ने कहा कि सभी देशों में पहले गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों स्वास्थ्य कर्मियों और वृद्ध लोगों को वैक्सीन लगाई जानी चाहिए।

Geetika SharmaPublish:Mon, 29 Nov 2021 05:12 PM (IST) Updated:Mon, 29 Nov 2021 05:16 PM (IST)
ओमीक्रोन को लेकर WHO ने जारी की प्रतिक्रिया, स्वास्थ्य कर्मियों, गंभीर बीमारियों से ग्रस्त और वृद्ध लोगों को पहले लगाई जाए वैक्सीन
ओमीक्रोन को लेकर WHO ने जारी की प्रतिक्रिया, स्वास्थ्य कर्मियों, गंभीर बीमारियों से ग्रस्त और वृद्ध लोगों को पहले लगाई जाए वैक्सीन

जिनेवा। दुनियाभर में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमीक्रोन से हड़कंप मचा हुआ है। दुनियाभर में इस नए वैरिएंट के 100 से अधिक मामले पाए गए है। बताया जा रहा है कि ओमिक्रोन में डेल्टा वैरिएंट के मुकाबले दोगुना तेजी से म्युटेशन हो रहा है। विश्व में अब तक नए वैरिएंट ओमीक्रोन के सबसे अधिक 13 मामले नीदरलैंड में पाए गए हैं। इसके अलावा जर्मनी, इटली, बेल्जियम, इजरायल, हांगकांग में भी ओमीक्रोन से संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है।

इसी बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन डब्ल्यूएचओ WHO के चीफ डॉ टेड्रोस अदनोम घेब्रेयियस ने कहा कि सभी देशों में पहले गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों, स्वास्थ्य कर्मियों और वृद्ध लोगों को वैक्सीन लगाई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिन देशों में अच्छी मात्रा में वैक्सीनेशन हुआ है, वहां साफ तौर पर कोरोना संक्रमितों के मामलों और कोरोना से पीड़ित लोगों की मौतों में अंतर देखा जा सकता है।

आपको बता दें कि हालहीं कोरोना वायरस का नया ओमीक्रोन वैरिएंट दुनियाभर में चिंता का विषय बना हुआ है। इस वैरिएंट को अभी तक का सबसे खतरनाक माना जा रहा है। ओमीक्रोन के खतरे को देखते हुए दुनियाभर में अलग-अलग तरह के नियमों कानून लागू किए जा रहे है। दुनियाभर के कई देशों ने अपनी सीमाएं सील कर दी है, जिससे कोरोना वायरस के इस नए वैरिएंट को फैलने से रोका जा सकें। वहीं, कई देशों ने दूसरे देशों से आने वाली उड़ानो को भी रद्द कर दिया है।

वहीं, कोरोना के नए संक्रमण को लेकर विभिन्न वैक्सीन निर्माता कंपनियों ने वैक्‍सीन के विकास को लेकर अलग-अलग तरह की अपनी प्रतिक्रियांए भी दी हैं। साथ ही कंपनियों ने ओमीक्रोन वैरिएंट के लिए नई वैक्सीन के निर्माण का काम भी शुरू कर दिया है। इसमें फाइजर/बायोएनटेक, माडर्न, एस्ट्राजेनेका, जानसन एंड जानसन और नोवावैक्स प्रमुख है। ऐसे में ब्रिटेन ने दावा किया सुपर म्यूटेंट वाले नए कोरोना स्ट्रेन के ओमीक्रोन खिलाफ एक ब्रिटिश वैक्सीन परीक्षण के अंतिम दौर में है।