ईरान में बर्दाश्‍त के बाहर हो गया बिजली पानी का संकट, सड़कों पर उतरे लोग, खमेनेई के खिलाफ भी हुई जमकर नारेबाजी

ईरान में भीषण गर्मी और बारिश की कमी की वजह से कई जगहों पर हालात बेहद खराब हो गए हैं। पानी की कमी से बिजली उत्‍पादन में काफी गिरावट आई है। लोगों ने इसके खिलाफ तेहरान में विरोध प्रदर्शन किया है।

Kamal VermaTue, 27 Jul 2021 02:32 PM (IST)
ईरान की राजधानी की सड़कों पर विरोध प्रदर्शन

तेहरान (एपी)। जलसंकट को झेलने के लिए मजबूर लोग अब सड़कों पर उतर आए हैं। सोमवार को इन हालातों के खिलाफ सड़कों पर जमकर भड़ास निकाली गई। इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वाययल हुआ है। आपको बता दें कि कई दिनों से ईरान के लोग पानी की समस्‍या से जूझ रहे हैं। बीते कुछ दिनों से इस मुद्दे पर लोगों का विरोध प्रदर्शन भी जारी है। रविवार को सड़कों पर जो प्रदर्शन हुआ उसमें लोग देश के सर्वोच्‍च अयातुल्‍लाह अली खमेनेई के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे।

बीते कुछ दिनों की बात करें तो इसमें अब तक कम से कम पांच लोगों की जान चुकी है। हालांकि एमनेस्‍टी इंटरनेशनल का कहना है कि अब तक आठ लोगों जान जा चुकी है। इसमें सुरक्षाकर्मी और आम नागरिक शामिल हैं। पानी को लेकर होने वाले प्रदर्शन की शुरुआत ईरान के खुजेस्तान प्रांत से शुरू हुई थी जो अब तेहरान तक आ पहुंची है। में पानी की किल्लत को लेकर पिछले हफ्ते शुरू हुआ विरोध प्रदर्शन राजधानी तेहरान तक पहुंच गया है। ईरान की समाचार एजेंसी IRNA का कहना है कि तेहरान की सड़क पर जो विरोध प्रदर्शन हुआ उसमें महज 50 लोग शामिल थे।

सोशल मीडिया पर जारी वीडियो क्लिपिंग में लोगों को तानाशाह मुर्दाबाद कहते हुए नारा लगा रहे थे। हालांकि देश के सर्वोच्‍च नेता के खिलाफ इस तरह की नारेबाजी करना एक अपराध की श्रेणी में आता है। पुलिस ने प्रदर्शन के दौरान कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया है। यदि उनके ऊपर अपराध साबित होता है तो इन्‍हे सजा तक हो सकती है। आपको बता दें कि ईरान में इस वर्ष 50 फीसद कम बारिश हुई है। इसकी वजह से लोगों को न सिर्फ पानी की किल्‍लत हो रही है बल्कि इसकी वजह से देश में बिजली का भी उत्‍पादन काफी कम हो रहा है।

दूसरे कोरोना काल में देश पर लगे अमेरिकी प्रतिबंधों की बदौलत भी लोगों की समस्‍या बढ़ी हुई है। मध्य तेहरान में सोमवार को जो प्रदर्शन किया गया वो जम्हूरी इस्लामिक एवेन्यू पर हुआ था। इस दौरान प्रदर्शनकारी कह रहे थे कि उन्‍होंने गजा या लेबनान के लिए नहीं, बल्कि ईरान के लिए अपना जीवन बलिदान किया है।

गौरतलब है कि ईरान का दक्षिण-पश्चिमी प्रांत खुजेस्तान काफी समय से पानी की कमी को झेल रहा है। बारिश न होने से बांधों में पानी का स्‍तर बेहद कम हो गया है। इसकी वजह से बिजली उत्‍पादन में कमी आई है। वहीं भीषण गर्मी की वजह से बिजली की मांग काफी अधिक है। वहीं सरकार इस मांग को पूरा नहीं कर पा रही है। इसके उलट बिजली की बेतहाशा कटौती की जा रही है।

कई बार देश के प्रमुख शहरों को ब्लैकआउट से भी गुजरना पड़ा है। देश के सर्वोच्‍च नेता ने इन प्रदर्शनों को देखते हुए देश के नाम एक संदेश दिया है। इसमें कहा है कि ये निर्दोष हैं। उन्‍होंने अधिकारियों से लोगों की समस्‍याओं के जल्‍द समाधान के भी दिशा निर्देश दिए हैं। उन्‍होंने कहा कि विरोध प्रदर्शनों के लिए आम लोगों को दोष देना गलत हे। गौरतलब है ईरान पर काफी लंबे समय से अमेरिका ने प्रतिबंध लगाए हुए हैं। इसकी वजह से भी उसकी आर्थिक हालत काफी खराब हो गई है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.