दक्षिण चीन सागर में फ‍िलीपींस और अमेरिकी सैन्‍य अभ्‍यास से बौखलाया चीन, दे चुका है सख्‍त चेतावनी

दक्षिण चीन सागर में फ‍िलीपींस और अमेरिकी सैन्‍य अभ्‍यास से बौखलाया चीन। फाइल फोटो।

खास बात यह है कि यह सैन्‍य अभ्‍यास ऐसे समय हो रहा है जब दक्षिण चीन सागर में चीन की सक्रियता से काफी तनाव है। चीन लगातार ताइवान के समुद्री इलाके में घुसपैठ कर रहा है। ताइवान ने इस घुसपैठ को लेकर चीन को सख्‍त चेतावनी जारी किया है।

Ramesh MishraSun, 11 Apr 2021 04:31 PM (IST)

मनीला, एजेंसी। फिलीपींस और अमेरिका के बीच सालाना संयुक्त सैन्य अभ्यास यहां सोमवार से शुरू होगा। फ‍िलीपींस के सैन्‍य प्रमुख ने यह जानकारी साझा करते हुए कहा कि दोनों देशों की नौसेना के बीच यह सैन्‍य अभ्‍यास दो सप्‍ताह तक चलेगा। सैन्‍य अभ्‍यास के ऐलान के पूर्व दोनों देशों के रक्षा सचिवों ने फोन पर क्षेत्रीय सुरक्षा विकास पर चर्चा की थी। इसके बाद सैन्‍य अभ्‍यास की घोषणा की गई।

अमेरिका और चीन के संबंध काफी तल्‍ख

खास बात यह है कि दोनों देशों के बीच यह सैन्‍य अभ्‍यास ऐसे समय हो रहा है, जब दक्षिण चीन सागर में चीन की सक्रियता से काफी तनाव है। चीन लगातार ताइवान के समुद्री इलाके में घुसपैठ कर रहा है। ताइवान ने इस घुसपैठ को लेकर चीन को सख्‍त चेतावनी जारी की है। ताइवान को लेकर दक्षिण चीन सागर में बीजिंग की इस सक्रियता पर अमेरिका ने भी कड़ी आपत्ति जताई है। इसको लेकर अमेरिका और चीन के संबंध काफी तल्‍ख हो गए हैं।

सैन्‍य अभ्‍यास पर कोरोना इफेक्‍ट

कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए इस बार के सैन्‍य अभ्‍यास में दोनों देशों ने अपने सैनिकों की संख्‍या में भारी कटौती की है। लेफ्टिनेंट जनरल सिरिलिटो सोबजाना ने कहा इस सैन्‍य अभ्‍यास में अमेरिका के 700 और फ‍िलीपींस के 1000 नौसैनिक भाग लेंगे। पिछले अभ्‍यासों में सैनिकों की बड़ी तादाद हिस्‍सा लेती थी। इसके पूर्व इस सैन्‍य अभ्‍यास में 7,600 सैनिक शामिल थे। उन्‍होंने कहा कि कोरोना महामारी के चलते सैनिकों में शारीरिक संपर्क न्‍यूतम होगा।

चीनी नौकाओं को लेकर विरोध

उधर,  फिलीपींस ने सामरिक जलमार्ग में व्हिट्सुन रीफ में अपने 200 मील के विशेष आर्थिक क्षेत्र के अंदर चीनी नौकाओं की उपस्थिति के खिलाफ विरोध दर्ज किया है। फ‍िलीपींस ने चीन से इन जहाजों को हटाने के लिए कहा है। हालांकि, चीनी राजनयिकों ने कहा है कि यह मछली पकड़ने की नावें हैं और उनमें कोई मिलिशिया नहीं था। बता दें कि ब्रुनेई, मलेशिया, फिलीपींस, ताइवान, चीन और वियतनाम ने दक्षिण चीन सागर में क्षेत्रीय दावों पर प्रतिस्पर्धा की है।

सैन्‍य अभ्‍यास को लेकर चीन दे चुका है चेतावनी

इसके पूर्व चीन की सेना ने अमेरिका को बेहद कड़ी चेतावनी देते हुए कहा था कि विवादित दक्षिण चीन सागर इलाके में फिलीपींस के साथ उसके सैन्‍य अभ्‍यास करने पर सशस्‍त्र संघर्ष हो सकता है। चीन ने कहा था कि इस विवादित समु्द्री इलाके में फिलीपींस के साथ मिलकर सैन्‍य अभ्‍यास को अंजाम देने से सीधे संघर्ष की नौबत आ सकती है और इसकी जिम्‍मेदारी वाशिंगटन की होगी।

 

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.